सिक्किम में नेशनल हाईवे नंबर-10 जोकि नाथुला पास की ओर जाता है, वहां सिक्किम की पहली डबल लेन टनल बन रही है। राष्ट्रीय राजमार्ग पर बन रही इस सुरंग के दोनों तरफ से गाड़ियां गुजर सकेंगी। इससे नाथुला पास तक जाने वाले सेना के वाहन और गैंगटाक तक जाने वाले सिविलियन के वाहनों को घंटों जाम से निजात मिलेगी। 

सिक्किम के चीशोपानी टनल लेन पर पिछले दो महीनों से लगातार काम चल रहा है और इसे बनाने वाली एजेंसी नेशनल हाईवे इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कारपोरेशन की योजना है कि आने वाले छह महीनों में ये टनल बनकर तैयार हो जाए। इसके बाद ये सिक्किम की पहली डबल लेन टनल होगी जिससे एक वक्त पर दोनों लेन में गाड़ियां चल सकेंगी।

संजय, जोकि इस प्रोजेक्ट से जुड़े इंजीनियर हैं उनका कहना है कि इस रास्ते के पत्थरों की टेस्टिंग और रास्ते के सर्वे का काम पहले ही पूरा किया जा चुका है। और इसी के मुताबिक इस आधुनिक टनल के निर्माण की तकनीक विकसित की गई है। 

दरअसल, नेशनल हाईवे पर पहले भी एक टनल है लेकिन वहां से एक वक्त पर सिर्फ एक ही गाड़ी गुजर पाती है। इस वजह से सेना के वाहन और आम वाहन जो भारत चीन सीमा के पास नाथुला पास और गैंगटाक जाते हैं इन्‍हें घंटों जाम का सामना करना पड़ता है। इस टनल के बन जाने से इस राजमार्ग पर जाम की समस्या खत्म हो जाएगी और तय समय पर सेना के वाहन अपनी जगह पर पहुंच सकेंगे।

पिछले दो महीनों से 24 घंटे दिन और रात डबल शिफ्ट में इस टनल का काम चल रहा है। इसे आधुनिक पाइलिंग तकनीक से बनाया जा रहा है। इस डबल लेन टनल के बन जाने के बाद आने वाले दिनों में सिक्किम के अन्य दुर्गम इलाकों में इसी तरीके के रास्ते बनाने की संबधित एजेंसियों की योजना है।