देश व विदेश में सिक्किम की माटी के सपूत ने जितनी प्रसिद्धि दिलाई उसी सपूत का विगत दिवस 9 जून को लाकडाउन के दौरान दक्षिण सिक्किम के नामची स्थित सेंट्रल पार्क में पुतला दहन किया गया। पुतला दहन में दक्षिण सिक्किम नारी संघ नामक संगठन पर शामिल होने की जानकारी मिली। पुतला दहन की चौतरफा निंदा होने पर दक्षिण जिला प्रशासन बैकफुट पर आ गया और स्थिति यह हो गई कि प्रशासन को स्पष्टीकरण देना पड़ रहा है कि आरोपी को पकड़ने की प्रयास किया गया मगर आरोपी भाग निकला। 

इन्हीं विरोधाभास के बीच गुरूवार को दक्षिण जिला के जिलाधिकारी एम. भरणी कुमार व पुलिस अधीक्षक (दक्षिण जिला) ठाकुर थापा ने संयुक्त रूप पत्रकार सम्मेलन आयोजित कर अपना स्पष्टीकरण दिया। जिलाधिकारी एम भरणी कुमार ने कहा कि हाम्रो सिक्किम पार्टी के नेता बाईचुंग भूटिया के पुतला दहन कार्य अचानक 09 जून को दोपहर करीब 1 बजकर 40 मिनट में घटी। पुतला दहन में 15 लोग शामिल थे। डीएम ने उक्त प्रदर्शन को राज्य सरकार द्वारा लागू लाकडाउन का उल्लंघन करार दिया। आरोपियों के विरुद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के तहत नामची थाना में प्राथमिकी दर्ज कराए जाने की जानकारी दी।

दूसरी ओर पुलिस अधीक्षक (दक्षिण) ठाकुर थापा ने कहा कि सबसे पहले सेंट्रल पार्क में दो लोगों ने पुतला फूंका इसके बाद अन्य लोगों ने एकत्रित होकर नारेबाजी करना शुरू की। प्रदर्शनकारियों ने कोविड-19 नियम को तोड़ा है। इनके विरुद्ध नामची थाना में जनरल डायरी दर्ज की गयी है। उन्होंने कहा कि कोरोना प्रकोप गाव में फैलने के कारण पुलिसकíमयों को गाव में तैनात किया गया है। इसी कारण नामची बाजार में पुलिस कर्मी की संख्या कम है। उन्होंने बताया कि जब पुलिस मौके पर पहुंची तो सभी आरोपी भाग चुके थे जिनकी खोजबीन जारी है।