सिक्किम और दिल्ली पुलिस ने एक संयुक्त अभियान में राज्य से लापता हुई दो लड़कियों को मानव तस्करों के चंगुल से छुड़ा लिया है। दोनों लड़कियां सिक्किम के सिंगटम से लापता हुई थीं। इन लड़कियों को पूर्वी सिक्किम के नामथांग का एक लड़का कथित तौर बहला-फुसलाकर दिल्ली ले गया था। मानव तस्करों ने दिल्ली की हौज रानी में सिक्किम की रहने वाली एक महिला के पास एक लड़की को रख दिया, जिसकी सूचना दिल्ली पुलिस को मिली। 

ये भी पढ़ेंः तो क्या यूक्रेन में संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो को मौत की नींद सुलाया चाहता था रूस, किया था ऐसा धमाका


लापता लड़की के दिल्ली में होने की सूचना मिलने पर सिक्किम पुलिस राजधानी आई। बाद में पता चला कि दूसरी लापता लड़की भी हौज रानी में ही है, जिसके बाद उसको भी बचा लिया गया। एक एनजीओ ने बताया कि सिक्किम पुलिस के जांच अधिकारी टेमी तारकू योगेंद्र गुरुंग ने लड़कियों को बचाने में काफी मदद की, लड़कियां अब सुरक्षित हैं। 

ये भी पढ़ेंः सामने आए अयोध्या में तनाव की साजिश रचने वाले, जानिए कौन थे जालीदार टोपी वाले


रिपोर्ट के अनुसार दोनों लड़कियों की उम्र क्रमश: 14 और 17 वर्ष है। उन्हें अच्छी नौकरी और बेहतर जीवन का लालच देकर दिल्ली ले जाया गया था, दोनों लड़कियों को दिल्ली की अदालत में पेश करने तक बाल गृह में रखा गया। आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और गंगटोक की अदालत में उनके खिलाफ मुकदमा चलेगा।