सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि असम सरकार एक्ट ईस्ट नीति पर केंद्र के नए सिरे से जोर देने के बाद राज्य को आसियान और दक्षिण पूर्व एशिया के प्रवेश द्वार और एक्सप्रेसवे के रूप में स्थापित करने के लिए काम कर रही है।

ये भी पढ़ेंः बाढ़ से बेहाल असम को मिली मोदी सरकार की मदद, SDRF से 324 करोड़ रुपए जारी


आसियान देशों के राजदूतों और उच्चायुक्तों की उपस्थिति में एक्ट ईस्ट पर एक सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए सरमा ने कहा कि एक्ट ईस्ट नीति से उत्पन्न विकास कथा ने पूर्वोत्तर के लोगों को एक नई आशा दी है। पूर्वोत्तर और उसके लोगों पर केंद्र के निरंतर ध्यान ने साबित कर दिया है कि यह क्षेत्र दक्षिण पूर्व एशिया के सबसे तेजी से उभरते राष्ट्रों का केंद्र है। 

ये भी पढ़ेंः असम: हिरासत से भागने की कोशिश कर रहा था गैंगरेप का आरोपी, पुलिस ने मारी गोली


इसलिए सरकार असम को आसियान और दक्षिण पूर्व एशिया के प्रवेश द्वार और एक्सप्रेसवे के रूप में स्थापित करने के लिए काम कर रही है। सरकार असम को औद्योगिक केंद्र बनाने के लिए भी कड़ी मेहनत कर रही है जो न केवल क्षेत्र बल्कि बीबीएन और आसियान देशों की आबादी की सेवा कर सकता है।