अगरतला: त्रिपुरा में राजनीतिक हिंसा के ताजा दौर में बुधवार को खोवई जिले में भाजपा और माकपा कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई। त्रिपुरा के खोवाई जिले में दो पक्षों के बीच हुई झड़प में कई लोग घायल हो गए।

जबकि भाजपा के 12 कार्यकर्ताओं को चोटें आईं।  कम से कम छह माकपा कार्यकर्ता भी झड़प में घायल हो गए।

आज का राशिफल : इन राशि वालों को दूर से शुभ समाचार प्राप्त होंगे, इन लोगों को व्ययवृद्धि से तनाव रहेगा


घायल त्रिपुरा भाजपा कार्यकर्ताओं की पहचान सागर घोष, अमलान ऋषि दास, अमित दास, लिटन साहा, गोपाल पाल, सुशांत देबनाथ, संतोष दास, संजय नाथ शर्मा, कृष्ण देव रॉय, अभिजीत घोष, राकेश दास और प्रदेश तांती के रूप में की गई है।

घायल त्रिपुरा भाजपा कार्यकर्ताओं में से तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है और उन्हें खोवाई जिला अस्पताल से अगरतला के जीबी अस्पताल में रेफर किया गया है। दूसरी ओर त्रिपुरा माकपा के छह घायल कार्यकर्ताओं में से एक की हालत गंभीर बताई जा रही है।

Aaj Ka Love Rashifal : इन राशि वालों के आफिस या कार्यस्थल पर नये दोस्त बनेंगे, परिवार के साथ छुट्टियां बिताने की योजना बनेगी


त्रिपुरा सीपीआई-एम ने भाजपा पर वाम मोर्चे के एक जुलूस पर हमला करके राज्य में ताजा राजनीतिक हिंसा भड़काने का आरोप लगाया है। त्रिपुरा के वरिष्ठ माकपा नेता पबित्रा कार ने आरोप लगाया की भाजपा ने हमले की पूर्व योजना बनाई थी।"

उन्होंने आगे कहा: त्रिपुरा में भाजपा एक ऐसी पार्टी बन गई है, जो पूरी तरह से गैंगस्टरों पर निर्भर है।

त्रिपुरा सीपीआई-एम नेता ने कहा, "यह सुशासन और बेहतर कानून-व्यवस्था है, जिसका दावा वर्तमान मुख्यमंत्री कर रहे हैं।

उन्होंने कहा: "त्रिपुरा में लोग कुशासन के कारण भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकेंगे।"

दूसरी ओर त्रिपुरा के भाजपा नेता सुब्रत मजूमदार ने बुधवार को खोवाई में दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प के लिए माकपा को जिम्मेदार ठहराया।

मजूमदार ने आरोप लगाया कि जुलूस में शामिल माकपा कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला किया।

उन्होंने दावा किया कि भाजपा कार्यकर्ता "घर घर भाजपा" कार्यक्रम के लिए अभियान की सजावट पर काम कर रहे थे, जब उन पर माकपा कार्यकर्ताओं ने हमला किया।