सिक्किम खूबसूरत वादियों और पहाड़ों के बीच बसा भारत का एक छोटा सा राज्य  है। यह राज्य अपनी खुबसूरती से पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। सिक्किम में कई ऐसी जगहें हैं, जहां आप घूम सकते हैं। अगर आप अक्टूबर में सिक्किम जाने का प्लान कर रहें हैं तो इससे जुड़ी कुछ बातों को ध्यान में रखें। आइए जानते हैं सिक्किम की कुछ प्रमुख जगहें और कितने खर्च में कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें- नागालैंड की विरासत पर आधारित 12 लघु फिल्में रिलीज

गंगटोक

द्दरसल सिक्किम की राजधानी गंगटोक भारत की सबसे ज्यादा घूमे जाने वाली जगहों में से एक है। बता दे गंगटोक पहाड़ों की चोंटी में बसा सिक्किम राज्य का सबसे बड़ा शहर और खूबसूरत हिल स्टेशन है। गंगटोक समुंद्र तल से 1650 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। एडवेंचर पसंद करने वाले लोगों को यह शहर काफी पसंद आती है क्योंकि आप यहाँ ट्रैकिंग, कैंपिंग, रोप वे आदि जैसी एक्टिविटीज़ का आनंद आप ले पाते है।

नाथुला दर्रा 

नाथुला दर्रा की खुबसूरती देख आप भौचक्के तो हो ही जायेंगे लेकिन इस जगह का अपना इतिहास भी अलग है। दरअसल गंगटोक से लगभग 54 किलोमीटर दूरी पर स्थित नाथुला दर्रा विश्व का सबसे ऊँचाई में मोटर की क्षमता रखने वाला पास है जो पर्यटकों के लिए मुख्य आकर्षण का केंद्र है। बता दे लगभग 14450 फ़ीट की ऊँचाई और चारों ओर फैली अल्पाइन वृक्ष के घने जंगल साथ नाथुला पास के जबरदस्त नज़ारें किसी स्वर्ग से कम नहीं लगते हैं। दरअसल यह pass silk route का एक हिस्सा है जो सिक्किम को चाइना के क्षेत्र तिब्बत से जोड़ता है। इतना ही नहीं नाथुला पास उन जगहों में से जहाँ हर मौसम में बर्फ बारी होती है। जानकारी के लिए बता दें कि नाथुला पास घूमने के लिए पर्यटकों के पास परमिट होना बेहद जरूरी है।

यह भी पढ़ें- खनिकों की मौत के बाद अवैध रैट-होल कोयला खनन की उच्च स्तरीय जांच की मांग

बाबा हरभजन सिंह मंदिर

आपको यह जानकर हैरानी होगी और साथ ही गर्व भी होगा कि सिक्किम में एक सैनिक का मंदिर है। दरअसल भारतीय सेना के जवान हरभजन सिंह का ये मंदिर चांगू लेक से जरा ऊपर मौजूद है। ऐसा कहा जाता है कि बाबा हरभजन आज भी यहाँ अपनी ड्यूटी देते हैं। यहां के सैनिकों का मानना है कि बाबा आज भी उनके आसपास मौजूद रहते हैं। इतना ही नहीं जब भी चीनी सैनिकों के साथ बैठकें होती हैं, बाबा के लिए कुर्सी खाली रखी जाती है। यहां तक कि बाबा के लिए खाने-पीने के सामान भी रखे जाते हैं। सिक्किम जाए तो इस मंदिर में जरूर जाएं।

गणेश टोक

भगवान गणपति की इस खूबसूरत मंदिर की दीदार के लिए दूर दूर से भक्त आते हैं। बता दे गणेश टोक मंदिर सिक्किम में गंगटोक-नाथुला रोड से करीब 7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है,जो यह मंदिर लगभग 6,500 फीट की ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। दरअसल इस मंदिर के बाहर खड़े होकर आप पूरे शहर का नजारा एक साथ ले सकते हैं। सिक्किम घूमने आए तो गणेश टोंक जरूर जाएं।