सिक्किम सरकार ने उत्तरी सिक्किम जिले में अफ्रीकी स्वाइन बुखार (एएसएफ) के मामले सामने आने के बाद राज्य में सुअरों की बिक्री पर अस्थायी रूप से प्रतिबंध लगा दिया है। पिछले दो महीनों में राज्य के विभिन्न हिस्सों में कुल 117 सूअरों की मौत हुई है। 

ये भी पढ़ेंः आयुष मंत्रालय ने की सिक्किम की तारीफ, पारंपरिक चिकित्सा क्षेत्र को दिया बढ़ावा


पशुपालन विभाग के सचिव डॉ पी सेंथिल कुमार ने आम जनता को सूअर का मांस खाने से परहेज करने के लिए आगाह किया है और यह भी कहा है कि उत्तरी सिक्किम जिले में सूअरों से लिए गए नमूनों का पहला परीक्षण पोर्सिन प्रजनन और श्वसन सिंड्रोम के लिए सकारात्मक आया था। 29 फरवरी को अफ्रीकन स्वाइन फीवर का पहला मामला सामने आया था। 

ये भी पढ़ेंः सिक्किम में खुलेगा आमची उपचार कालेज व हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर, आयुष मंत्री ने दी जानकारी


उन्होंने यह भी बताया कि वायरस से सूअरों के मरने की 20 प्रतिशत संभावना थी, लेकिन सिक्किम में मरने वाले सूअरों की मृत्यु दर वायरस से वर्तमान में 1 प्रतिशत है। पशुपालन विभाग के सचिव ने कहा कि राज्य सरकार वायरस के प्रसार का मुकाबला करने के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रही है और पूरे राज्य में इस पर जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं।