गुवाहाटी: मुख्यमंत्री डॉ. हिमंत बिस्वा सरमा ने शुक्रवार को गुवाहाटी के फैंसी बाजार में “गुवाहाटी गेटवे घाट” (नौका टर्मिनल) के निर्माण की आधारशिला रखी। फेरी टर्मिनल का निर्माण 289 करोड़ रुपये की लागत से किया जाएगा। 

यह भी पढ़े : इन राशियों पर नहीं होता शनि की साढ़ेसाती या ढैया कोई प्रभाव, इन पर मेहरबान रहते हैं शनि देव


सरमा ने कहा, “देश में समुद्री परिवहन के लिए इस तरह के अत्याधुनिक टर्मिनल हैं लेकिन यह परियोजना (गुवाहाटी गेटवे घाट) नदी प्रणाली पर चालू होने वाला अपनी तरह का पहला टर्मिनल होगा। एलएंडटी द्वारा इसे 24 महीनों के भीतर पूरा किया जायेगा।  यह सभी मौसमों के दौरान गुवाहाटी और आसपास के घाटों में यात्रियों के सुरक्षित परिवहन को सुनिश्चित करेगा। 

यह भी पढ़े : Today's Lucky Zodiac Signs: ये हैं आज 14 मई की लकी राशियां, इन राशि वालों को लाभ होगा, इनको सावधान रहने की सलाह


यात्रियों को एक सुखद अनुभव देने के लिए सभी आधुनिक सुविधाएं जैसे कैफे, कैंटीन, रैंप, आदि जगह में होंगे। हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि यात्रियों और पर्यटकों को सिंगापुर और अन्य विदेशी देशों में यात्रियों और पर्यटकों के समान अनुभव हो।

मुख्यमंत्री ने कहा, "हम धुबरी, बहारी आदि स्थानों पर छोटे मॉड्यूलर टर्मिनलों का निर्माण भी शुरू करने जा रहे हैं जो राज्य के विभिन्न जिलों के बीच नदी परिवहन व्यवस्था में सुधार करने में एक लंबा रास्ता तय करेंगे।

यह भी पढ़े : Shani Dev Puja: शनिवार को इन पांच राशियों के जातक जरूर करें शनिदेव की पूजा, आज शनिदेव की पूजा का खास संयोग


राज्य के लोगों को 20 ऐसे जहाजों (जिनमें से 8 साल पहले ही चालू हो चुके हैं और राज्य के विभिन्न घाटों पर सेवाएं प्रदान कर रहे हैं) को समर्पित करने की सरकार की योजना के हिस्से के रूप में दो स्टील-निर्मित कटमरैन जहाजों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। मुख्यमंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि नवीनतम तकनीकों से लैस ये जहाज नदी दुर्घटनाओं और हादसों को काफी हद तक कम करने में सक्षम होंगे। साथ ही साथ राज्य के विभिन्न घाटों को एक दूसरे से जोड़ेंगे।

ये (कटमरैन जहाज) हाई-टेक नेविगेशनल गैजेट्स से लैस हैं और इन्हें डिज़ाइन किया गया है ताकि इन्हें कम ड्राफ्ट पर चलने में सक्षम बनाया जा सके। इन जहाजों के साथ (गुवाहाटी) गेटवे टर्मिनल जैसी पहल से राज्य में पर्यटन क्षेत्र को भारी बढ़ावा मिलेगा। मुझे विश्वास है कि हमारी नदी परिवहन व्यवस्था आने वाले दिनों में इस तरह के और क्रांतिकारी बदलावों की गवाह बनेगी।

यह भी पढ़े : Horoscope May 14 : ये राशि वाले लोग आज संभलकर चले चोट लग सकती है, ये लोग काली वस्‍तु का दान करें


सरमा ने कहा, "यह अब व्यापक रूप से स्वीकृत तथ्य है कि आधुनिक परिवहन प्रणाली एक मजबूत पर्यटन उद्योग के लिए एक अनिवार्य शर्त है।" मुख्यमंत्री ने खानापारा से लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे तक रोपवे सेवा शुरू करने की योजना का भी खुलासा किया। इसके लिए (रोपवे परियोजना) प्रारंभिक सर्वेक्षण और शोध किया गया है। अगर सब कुछ ठीक रहा तो हम जल्द ही इस परियोजना पर आगे बढ़ेंगे।