शिलांग: असम-मेघालय अंतर्राज्यीय सीमावर्ती इलाकों में से एक में गोलीबारी की घटना के बाद मेघालय मंत्रिमंडल ने आज इस घटना पर विस्तार से चर्चा करने के लिए बैठक की।  गृह मंत्री लहकमेन रिंबुई ने घटना स्थल का दौरा किया और ग्राउंड जीरो से अपनी रिपोर्ट भी साझा की।

Today's Horoscope : इन राशि वालों को आज मिलेगा किस्मत का साथ, माता-पिता का आर्शीवाद लेकर शुरू करें काम


बैठक के आधार पर, 24 नवंबर को एक कैबिनेट प्रतिनिधिमंडल केंद्रीय गृह मंत्री से मुलाकात करेगा उन्हें आधिकारिक रूप से मुकरोह में हुई गोलीबारी की घटना से अवगत कराएगा और केंद्रीय एजेंसी एनआईए या सीबीआई के माध्यम से जांच की मांग करेगा।

मेघालय सरकार ने आगे कहा कि आज "दुर्भाग्यपूर्ण घटना" में जान गंवाने वालों के सम्मान में सभी सरकारी आधिकारिक कार्यक्रमों को 30 नवंबर, 2022 तक निलंबित कर दिया जाएगा। इसके अलावा, प्रभावित परिवारों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए मेघालय के किसी भी हिस्से में सभी त्योहारों को रद्द कर दिया जाएगा।

Love Horoscope : आज अपने किसी खास से अचानक होगी मुलाकात, जानिए प्रेम और वैवाहिक जीवन के लिए कैसा रहेगा आज का दिन


कैबिनेट ने यह भी कहा कि घटना की एक रिपोर्ट NHRC को भी सौंपी जाएगी। इसके अलावा प्राथमिकी दर्ज होने पर मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया जाएगा और पूर्वी रेंज के डीआईजी इसकी कमान संभालेंगे.

कैबिनेट ने कहा, “जब हम भारत सरकार से अपील करते हैं कि वह एक केंद्रीय एजेंसी को जांच सौंपे तो एसआईटी जांच शुरू कर देगी। जब भारत सरकार द्वारा अपील को मंजूरी दे दी जाएगी तो जांच उन्हें सौंपी जाएगी।”

Digilocker अब व्हाट्सऐप पर भी उपलब्ध, अब Aadhaar-PAN कार्ड डाउनलोड करना हुआ और भी आसान


 घटना के सभी पहलुओं को देखने के लिए जांच आयोग अधिनियम 1952 के तहत एक न्यायिक आयोग का भी गठन किया जाएगा। 23 नवंबर को मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री और कुछ कैबिनेट मंत्री शोक संतप्त परिवारों से मिलने मुकरोह गांव जाएंगे और परिवारों को अनुग्रह राशि सौंपेंगे।