मुख्यमंत्री डॉ. माणिक साहा की ओर से प्रमुख पंडालों के औपचारिक उद्घाटन के बाद दुर्गा पूजा की शुरुआत से दो दिन पहले गुरुवार की रात को पूरा शहर श्रद्धालुओं के उत्साहित रंगों में रंगा नजर आया। राज्य भर में प्रमुख दुकानें देर रात तक खुली रहीं और अंतिम समय में पूजा की खरीदारी की सुविधा के लिए सुबह जल्दी खोल दी गईं। 

ये भी पढ़ेंः नाबालिग लड़कियों से बलात्कार के मामले में दो आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा


त्रिपुरा पुलिस को गुरुवार शाम से पूजा पंडालों और खरीदारी क्षेत्रों में भीड़ को देखते हुए अपनी तैनाती बढ़ानी पड़ी। त्रिपुरा मर्चेंट एसोसिएशन के मुताबिक, कोविड महामारी के कारण दो साल से अधिक समय तक अन्य समारोह की तरह धार्मिक उत्सव भी फीके पड़ गए थे, लेकिन इस साल दुर्गा उत्सव बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। यहां के बाजारों में दोबारा से रौनक लौट आई है। बड़ी संख्या में लोग खरीदारी के लिए उत्तर और दक्षिण त्रिपुरा जिलों से अगरतला पहुंचे, जिससे कारोबार कई गुना बढ़ गया। कई पूजा आयोजकों ने श्रद्धालुओं के लिए पंडाल खोले और पिछले तीन दिनों से पूरा शहर जगमगा उठा है।

ये भी पढ़ेंः विकास के नाम पर लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रही भाजपा : CPI (M)


अगरतला हवाई अड्डे के पास भारत रत्न संघ में गुरुवार रात बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। जहां मदुरै में प्रतिष्ठित मीनाक्षी देवी मंदिर जैसी आकृति देकर बनाए गए दुर्गा पूजा पंडाल को देखने के लिए दूर-दराज के श्रद्धालु यहां पहुंचे। देशबंधु चितरंजन क्लब में बुर्ज खलीफा की प्रतिकृति, लाल बहादुर क्लब में वैष्णो देवी मंदिर और शहर के प्रांतिक क्लब में देवी दुर्गा के त्रिपुरा सुंदरी रूप को देखने के लिए पहले से ही भीड़ जमा हो गई थी। अतिरिक्त पुलिस महानिरीक्षक (एआईजीपी) ज्योतिष दास चौधरी ने कहा कि उन्होंने दुर्गा उत्सव के अवसर पर राज्य में शांति बनाए रखने के लिए पर्याप्त पुलिस व्यवस्था की है। राजघानी अगरतला में 436 सहित पूरे राज्य में लगभग 2506 सामुदायिक दुर्गा पूजा का आयोजन किया जा रहा है। त्रिपुरा पुलिस ने असामाजिक तत्वों के खिलाफ निवारक कार्रवाई शुरू कर दी है, संवेदनशील स्थानों की जांच कर रही है और अतिरिक्त 99 सीसी कैमरे लगाने के अलावा यातायात प्रवर्तन के लिए विशेष अभियान चला रही है। पूजा पूर्व सुरक्षा उपाय के रूप में राज्य भर में विशेष मादक द्रव्य विरोधी अभियान शुरू किया गया है और विभिन्न स्थानों से 8630 किग्रा भांग, 1.87 किग्रा हेरोइन, प्रतिबंधित कफ सिरप की 8946 बोतल और 49824 याबा टैबलेट जब्त किए गए हैं।