बांग्लादेश में 'सितरंग' चक्रवात का कहर देखने को मिल रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोमवार देर रात चक्रवात सितरंग की चपेट में आने से बांग्लादेश में कम से कम 5 लोगों की मौत हो गई। समाचार एजेंसी एएफपी ने आपदा मंत्रालय के नियंत्रण कक्ष के प्रवक्ता निखिल सरकार के हवाले से बताया कि बरगुना, नारेल, सिराजगंज और द्वीपीय जिले भोला से मौतों की सूचना मिली है।

ये भी पढ़ेंः मिजोरम CM का बड़ा ऐलान, राजकोषीय संकट के बीच प्रभावी संसाधन जुटाने की जरूरत


मौसम विभाग ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, मिजोरम और त्रिपुरा में मंगलवार को भारी से बहुत भारी बारिश होगी। विभाग ने बताया कि चक्रवाती तूफान सितरंग अगरतला के उत्तर-उत्तर-पूर्व और शिलांग के दक्षिण-दक्षिण-पश्चिम में कमजोर हो गया है। तूफान पूर्वोत्तर बांग्लादेश और पड़ोस में अगरतला से लगभग 90 किमी उत्तर-उत्तर-पूर्व और शिलांग से 100 किमी दक्षिण-दक्षिण-पश्चिम में केंद्रित था।

ये भी पढ़ेंः राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार मिजोरम की यात्रा पर जाएंगी मुर्मू, कई कार्यक्रमों में लेंगी हिस्सा


वहीं तूफानी संकट को देखते हुए पश्चिम बंगाल सरकार ने करीब सवा दो लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है। लोगों को रहने का इंतजाम भी किया गया है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लोगों से समुद्री इलाकों से दूर रहने की अपील की है। तूफानी हवा की वजह से कच्चे मकान, बिजली के खंभे समेत संचार व्यवस्था प्रभावित हो सकती है। इस बीच बांग्लादेश के मौसम विभाग ने कहा है कि चक्रवात सितरंग सोमवार रात 9.30 बजे से 11.30 बजे के बीच बरिसाल के पास बांग्लादेश तट को पार कर गया। दक्षिण बंगाल के जिलों में मंगलवार को दोपहर से मौसम में सुधार होने की संभावना है।