केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि मेघालय में नॉर्थ ईस्टर्न हिल यूनिवर्सिटी (एनईएचयू) से संबद्ध कॉलेजों में स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए सीयूईटी की आवश्यकता नहीं होगी।

ये भी पढ़ेंः मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा ने नशीली दवाओं के दुरुपयोग से निपटने के लिए कार्ययोजना मांगी


मुख्यमंत्री कोनराड के संगमा को लिखे पत्र में प्रधान ने कहा कि भौगोलिक परिस्थितियों, दूर-दराज के स्थानों, सीमित डिजिटल कनेक्टिविटी और बुनियादी ढांचे को देखते हुए इस शैक्षणिक वर्ष के लिए छूट दी गई है। शिक्षा मंत्री ने पत्र में कहा, एनईएचयू के संबद्ध कॉलेज सीयूईटी के बजाय प्रवेश के लिए मौजूदा अभ्यास जारी रखेंगे। इस शैक्षणिक वर्ष से सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों में पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (CUET) शुरू किया गया है।

ये भी पढ़ेंः मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा के आश्वासन देने के बाद FASTOM शिक्षकों ने बंद किया अपना आंदोलन


मुख्यमंत्री ने 25 अप्रैल को प्रधान से मुलाकात कर मेघालय के कॉलेजों को छूट देने की मांग की थी। संगमा ने छूट के लिए प्रधान का आभार जताया। उन्होंने कहा कि मेरे राज्य के छात्रों की ओर से मैं माननीय मंत्री @dpradhanbjp (धर्मेंद्र प्रधान) को NEHU से संबद्ध कॉलेजों को CUET (sic) के बजाय प्रवेश के लिए मौजूदा अभ्यास जारी रखने की अनुमति देने के लिए अपना आभार व्यक्त करना चाहता हूं।