गुवाहाटी। असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने सोमवार को बोंगैगांव जिले में राज्य सरकार की विकास पहल की एक श्रृंखला शुरू की। एक अधिकारी ने कहा कि एक परियोजना का पहला चरण जो 19 दिसंबर तक चलेगा। मुख्यमंत्री ने राज्य के 11 जिलों में 15,000 करोड़ रुपये के बुनियादी ढांचे की परियोजनाओं का उद्घाटन किया। सरमा ने सोमवार को नॉर्थ बोंगैगांव स्टेडियम के खेल के मैदान में आयोजित एक समारोह में 200 बेडेड बंगैगांव मेडिकल कॉलेज और अस्पताल की बुनियाद रखी।

यह भी पढ़ें- आपको अमीर बना देगी पोस्ट ऑफिस की ये गारंटी वाली स्कीम, 10 हजार रूपये जमा करने मिलेंगे 16 लाख

मेडिकल कॉलेज और अस्पताल का निर्माण 151 बीघों की भूमि पर किया जाएगा। यह परियोजना 61,067.41 लाख रुपये की लागत से तीन महीने के भीतर पूरी होने वाली है। मुख्यमंत्री ने बोंगैगांव जिले के एकीकृत उपायुक्त कार्यालय की नींव पत्थर भी रखी। परियोजना 30 महीनों के भीतर पूरी हो जाएगी। परियोजना की लागत 4,978.78 लाख रुपये है। इसके साथ ही, सरमा ने बोंगैगांव विसर्जन घाट में नारानारायण की एक प्रतिमा का उद्घाटन किया और एक स्वस्थ वातावरण में चलने के लिए जनता को सुविधाजनक बनाने के लिए एक पैदल क्षेत्र के निर्माण के लिए आधारशिला रखी।

यह भी पढ़ें- एग्जिट पोलः गुजरात और हिमाचल में फिर से बन रही मोदी सरकार, MCD में केजरीवाल ने चलाई झाड़ू

इस परियोजना में 668 मीटर लंबा चलने वाला क्षेत्र, एक 18-मीटर लंबा पुल और एक संगीत फव्वारा शामिल है। उन्होंने बोंगैगांव पॉलिटेक्निक की नींव और बोंगैगांव इटि की एक कार्यशाला भी रखी। इस बीच, मुख्यमंत्री ने 439.56 लाख रुपये की लागत से निर्मित श्रीजांग्रम मॉडल अस्पताल का भी उद्घाटन किया। मॉडल अस्पताल का निर्माण राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत किया गया है। राज्य सरकार के अनुसार, इस अस्पताल का निर्माण क्षेत्र के लोगों की लंबे समय से चली आ रही समस्या को हल करेगा। सरमा ने एआईई नदी पर बारपेटा जिले को अभिनेपुरी से जोड़ने वाली पुल का दौरा किया और स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पुल के निर्माण और अन्य सभी संबंधित कार्यो के लिए अपने फंड से 29 करोड़ रुपये को मंजूरी दी है।