मिजोरम के सियाहा जिले में असम राइफल्स के जवानों को बुधवार को बड़ी सफलता मिली है। जवानों ने सियाहा से म्यांमार ले जाए जा रहे बड़ी मात्रा में हथियार और युद्ध जैसे सामान जब्त किए साथ ही म्यांमार के पांच नागरिकों समेत सात लोगों को गिरफ्तार किया। रक्षा प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल महेंद्र रावत ने कहा कि, बरामद सामानों में एयर गन, एयर गन पेलेट, लड़ाकू वर्दी, रेडियो सेट, सामरिक बनियान, सामरिक दस्ताने और लगभग 16 लाख रुपये के जूते शामिल हैं। बरामदगी के सिलसिले में पांच म्यांमार और दो भारतीय नागरिकों को भी गिरफ्तार किया गया था।

यह भी पढ़ें- खनिकों की मौत के बाद अवैध रैट-होल कोयला खनन की उच्च स्तरीय जांच की मांग

लेफ्टिनेंट कर्नल रावत ने कहा कि बरामद किए गए स्टोर सैन्य ग्रेड के थे। इसलिए म्यांमार स्थित विद्रोहियों द्वारा राष्ट्र विरोधी गतिविधियों के लिए उनके उपयोग से इंकार नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि एक गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए सियाहा चौकी के असम राइफल्स के जवानों ने मिजोरम पुलिस के साथ मिलकर नियावथलांग गांव के पास अभियान शुरू किया और जब्त सामान ले जा रहे दो वाहनों को रोका।

यह भी पढ़ें- नागालैंड की विरासत पर आधारित 12 लघु फिल्में रिलीज

प्रवक्ता ने कहा, असम राइफल्स को दो सूमो वाहनों में म्यांमार स्थित विद्रोहियों के लिए सामरिक और युद्ध जैसे स्टोर की आवाजाही के बारे में विशेष जानकारी थी। गिरफ्तार आरोपियों और जब्त किए गए सामानों को आगे की जांच और कानूनी कार्यवाही के लिए सियाहा पुलिस स्टेशन को सौंप दिया गया है। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, यह ऑपरेशन सभी राष्ट्र विरोधी कार्यकताओं के लिए एक बड़ा झटका है। ऑपरेशन की सफलता भारत-म्यांमार सीमा पर शांति और सद्भाव स्थापित करेगी। मिजोरम की म्यांमार के साथ 510 किलोमीटर की एक बिना बाड़ वाली सीमा है यहां विभिन्न दवाओं, हथियारों और गोला-बारूद, सोना, विदेशी जानवरों, विभिन्न तंबाकू उत्पादों और कई अन्य प्रतिबंधित पदार्थों के तस्करी की सूचना हमेशा सामने आते रहची है।