हमरो सिक्किम पार्टी (एचएसपी) के अध्यक्ष बाईचुंग भूटिया ने कहा कि एसकेएम सरकार खेल, रोजगार, बुनियादी ढांचे और अपराध नियंत्रण सहित हर मोर्चे पर विफल रही है। बाइचुंग ने कहा कि यह निराशा की बात है कि सिक्किम ने गुजरात में होने वाले 36 वें राष्ट्रीय खेलों के लिए केवल छह एथलीटों को भेजा है। उन्होंने कहा कि असम और मणिपुर जैसे पूर्वोत्तर राज्यों ने क्रमशः 272 और 279 एथलीटों की मजबूत टीम भेजी है।

ये भी पढ़ेंः मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव पर धर्मांतरण में शामिल होने का आरोप , VHP ने अमित शाह को लिखा पत्र


उन्होंने आगे कहा कि मैं हर सिक्किमी से पूछना चाहता हूं, क्या आप विश्वास कर सकते हैं कि सिक्किम में केवल 6 खिलाड़ियों ही हैं, जो कि राष्ट्रीय स्तर पर हमारे राज्य का प्रतिनिधित्व कर सकते हैं?' जब राजनीतिक दौरों की बात आती है, तो यह एसकेएम सरकार हमेशा मुख्यमंत्री के नेतृत्व में बड़ी संख्या में दल भेजने के लिए विस्तृत योजना बनाती है। 

ये भी पढ़ेंः सिक्किम पर चढ़ेगा कश्मीरी रंग, केसर की खेती का सपना हुआ साकार


वहीं दूसरी तरफ उन्होंने कहा कि नई न्यूनतम मजदूरी अधिसूचना के अनुसार आशा कार्यकर्ताओं का वेतन न्यूनतम 15,000 रुपये प्रति माह होना चाहिए था। यह कदम निजी कंपनियों द्वारा अनुसरण किए जाने के लिए एक उदाहरण होना चाहिए था। जब सरकार न्यूनतम मजदूरी की गारंटी को लेकर गंभीर नहीं है, तो हम निजी कंपनियों से न्यूनतम मजदूरी का पालन करने की उम्मीद कैसे कर सकते हैं?