असम से एक ऐसा मामला सामने आया है जो यह साबित करता है कि कुछ लोगों को प्यार भी एक ही बार होता है और शादी भी एक बार होती है। दरअसल असम में एक युवक ने अपनी मृत प्रेमिका से उसके अंतिम संस्कार में शादी की और कथित तौर पर जीवन भर अविवाहित रहने का संकल्प लिया।

असम-मेघालय सीमा पर गोलीबारी की घटना की सीबीआई जांच की मांग


मोरीगांव के रहने वाले 27 साल के बिटुपन तमुली का चापरमुख के कोसुआ गांव की 24 वर्षीय प्रार्थना बोरा से कई साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। हाल ही प्रार्थना बीमार हो गई, जिसके बाद उसे गुवाहाटी के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां उसकी मौत हो गई, लेकिन प्रार्थना की मौत उसके लिए बिटुपन के दिल की मोहब्बत को नहीं मार सकी। शख्स ने अपनी मृत प्रेमिका के अंतिम संस्कार में उससे शादी कर ली और जीवन भर अविवाहित रहने का संकल्प लिया। 

नौगांव और तेजपुर में सड़क हादसों में सात लोगों की मौत


युवक लड़की के गालों और माथे पर ठीक वैसे ही सिंदूर लगा रहा है, जैसे कोई अपनी नवविवाहित दुल्हन को सिंदूर लगाता है। बिटुपन और प्रार्थना बोरा लंबे समय से रिलेशनशिप में थे। इस रिश्ते और शादी के लिए दोनों के परिवार भी राजी थे, लेकिन अचानक प्रार्थना बीमार हो गई थी। शख्स ने अंतिम विदाई से पहले प्रेमिका को जयमाला पहनाई और फिर उसके शरीर में दूसरी माला छुआकर खुद के गले में पहन ली। जब शख्स प्रेमिका से विवाह कर रहा था तो यह सब देखकर परिजन भी भावुक हो गए। लड़की की रिश्तेदार सुभोन बोरा ने कहा कि मेरी बहन में भाग्यशाली थी। वह बिटुपन से शादी करना चाहती थी और लड़के ने उसकी अंतिम इच्छा पूरी कर दी।