शिलांग। मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड कोंगकल संगमा असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा के साथ मिलकर केन्द्रीय मंत्री अमित शाह से जल्द ही मुलाकात करेंगे और बाढ़ तथा आपदा स्थिति पर चर्चा करेंगे। संगमा ने शनिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राज्य की बाढ़ एवं भूस्खलन समेत आपदा स्थिति पर समीक्षा करने के बाद, वह और असम के मुख्यमंत्री दिल्ली जाने से पहले संयुक्त बैठक करेंगे। 

ये भी पढ़ेंः ज्ञानवापी मामले में विवादित टिप्पणी करने वाले डीयू प्रोफेसर रतन लाल गिरफ्तार, साइबर सेल के बाहर प्रदर्शन

बुधवार को, सरमा ने वर्तमान प्राकृतिक आपदा पर संगमा के साथ एक वर्चुअल बैठक की और उनसे राजमार्ग से भूस्खलन के मलबे को साफ करवाने और वहां फंसे लोगों की मदद करने का अनुरोध किया। संगमा ने कहा, 'हमने उपायुक्तों और संबंधित विभाग के साथ चर्चा की। यह सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कार्रवाई की गई कि मार्ग स्पष्ट है।'

ये भी पढ़ेंः Disha Rape Case Hyderabad: फर्जी था कथित चार आरोपियों का एनकाउंटर, पुलिसकर्मियों के खिलाफ चलेगा हत्या का केस

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह स्थिति की समीक्षा के लिए उपायुक्तों और अन्य एजेंसियों के साथ बैठक करेंगे, जिससे राज्य में सुचारु रुप से सभी व्यवस्थाएं की जा सकें। मानसून पूर्व बारिश के कारण 29 जिलों के 2,585 गांवों में आठ लाख से अधिक लोगों के अलावा बाढ़ और भूस्खलन में 14 लोगों की मौत हो गई है। मेघालय में अब तक तीन लोगों की मौत हो गयी और हाल ही में कई लोग प्राकृतिक आपदा की चपेट में आए हैं। भूस्खलन के कारण मिजोरम, त्रिपुरा, मणिपुर और असम की बैरक घाटी का यातायात प्रभावित हुआ है। मेघालय के पूर्वी जैंतिया हिल्स में भारत-बंगलादेश सीमा से सटे छह गांव के आवागमन मार्ग अवरुद्ध हो गये हैं।