कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने असम में बाढ़ पीड़ितों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं से राहत और बचाव के काम में सहयोग करने का आग्रह किया है। 

ये भी पढ़ेंः बाढ़ राहत कोष की मांग को लेकर असम कांग्रेस ने नई दिल्ली में खोला मोर्चा


गांधी ने ट्वीट किया , असम में अभूतपूर्व बाढ़ का सामना कर रहे हमारे भाइयों और बहनों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना। मैं कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं से बचाव और पुनर्वास कार्यों में सहायता करने का आग्रह करता हूं। प्रियंका वाड्रा ने कहा , असम में आई भीषण बाढ़ से लाखों लोगों का जीवन प्रभावित हुआ। मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि वे सबकी रक्षा करें। कांग्रेस के सभी कार्यकर्ताओं से अपील है कि इस मुश्किल समय में असम के बहनों-भाइयों के साथ खड़े हों और राहत कार्य में हर संभव मदद करें।

ये भी पढ़ेंः मुख्यमंत्री हिमंता ने आधिकारियों को बाढ़ग्रसित क्षेत्रों में सहायता पहुंचाने का दिया आदेश


आपको बता दें कि असम में बाढ़ की स्थिति जस की तस रही। इस बीच, चार बच्चों समेत 12 लोगों की मौत हो गई, जिससे मरने वालों की कुल संख्या 100 हो गई। राज्य के 34 में से 32 जिलों में 54.57 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि बाढ़ का पानी कम होने के बाद सरकार बाढ़ के कारणों का स्थायी समाधान निकालने के लिए कदम उठाएगी। उन्होंने नगांव और मोरीगांव जिलों के विभिन्न बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और कुछ स्थानों के लिए रेल यात्रा भी की। सेना और राष्ट्रीय व राज्य आपदा प्रतिक्रिया एजेंसियां बाढ़ प्रभावित लोगों को सहायता प्रदान करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रही हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के अधिकारियों ने कहा कि पांच जिलों से 12 लोगों की मौत हुई है, जिनमें चार होजई में और तीन नलबाड़ी जिलों में हैं।