केंद्र सरकार ने नगालैंड और अरुणाचल प्रदेश के 12 जिलों और दोनों राज्यों के पांच अन्य जिलों के कुछ हिस्सों में सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून (अफस्पा) के तहत ‘‘अशांत क्षेत्र’’ की अवधि छह महीने के लिए और बढ़ा दी है।

ये भी पढ़ेंः रक्षा मंत्री ने किया अरुणाचल के अग्रिम इलाकों का दौरा किया, LAC पर सैनिकों से बातचीत की


सशस्त्र बल (विशेष अधिकार) अधिनियम, 1958 सुरक्षा बलों को बिना किसी पूर्व वारंट के अभियान चलाने और किसी को भी गिरफ्तार करने का अधिकार देता है। केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी एक अधिसूचना के अनुसार, अफस्पा की अवधि को एक अक्टूबर से नौ जिलों - दीमापुर, निउलैंड, चुमौकेदिमा, मोन, किफिर, नोकलाक, फेक, पेरेन और जुन्हेबोटो - और नगालैंड के चार अन्य जिलों कोहिमा, मोकोकचुंग, लोंगलेंग और वोखा के 16 पुलिस थानों में छह महीने के लिए बढ़ाया जाएगा।

ये भी पढ़ेंः अरुणाचल विधानसभा अध्यक्ष ने कहा, अरुणाचल के मेचुखा से फिक्स्ड विंग विमान भरेंगे उड़ान


एक अलग अधिसूचना में मंत्रालय ने कहा कि अफस्पा के तहत ‘‘अशांत क्षेत्र’’ की अवधि शनिवार से तिरप, चांगलांग, लोंगडिंग जिलों और अरुणाचल प्रदेश के नामसाई और महादेवपुर पुलिस थानों के अधिकार क्षेत्र में आने वाले क्षेत्रों में और छह महीने के लिए बढ़ा दी है। नगालैंड में कुल 16 जिले हैं, अरुणाचल प्रदेश में 26 जिले हैं।