नई दिल्ली। असम के अभिजीत बरुआ वल्र्ड बॉङ्क्षक्सग काउंसिल की ओर से तंजानिया में आयोजित होने वाली विश्व चैम्पियनशिप में पहुंचने वाले राज्य के पहले पेशेवर बॉक्सर बन गये हैं। अभिजीत के विश्व चैम्पियनशिप में पहुंचने की खबर मिलते ही उनके गांव जोरहाट में खुशी का माहौल छा गया। 

69 किलो वर्ग के प्रतिभागी बरुआ ने रविवार को आरडीसी स्पोर्ट्स द्वारा आयोजित एशियाई बॉक्सिंग काउंसिल के ट्रायल्स में उत्तर प्रदेश के शिवम तिवारी को हराया था। 24 घंटे में नंगे पांव सबसे लंबी दूरी दौडऩे का रिकॉर्ड भी बरुआ के नाम ही है। 

यह भी पढ़ें : पारंपरिक आदिवासी पोशाक, आभूषणों का दस्तावेजीकरण करेगा नागालैंड

साल 2012 में बरुआ ने 24 घंटे में 156.2 किमी नंगे पांव दौड़कर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया था। बरुआ मार्शल आर्ट्स के विशेषज्ञ भी हैं और उन्होंने 10 अलग-अलग श्रेणियों में कई पुरस्कार जीते हैं। 

यह भी पढ़ें : कोनराड संगमा ने ऑफिस आने-जाने के लिए खरीदी ये धांसू कार, एकबार चार्ज में चलती है 461 किमी

वर्तमान में यूथ लाइटवेट विश्व चैंपियन राजेश कसाना लुक्का की कोचिंग में प्रशिक्षण ले रहे बरुआ का सपना है कि वह भारत के पहले पेशेवर विश्व चैंपियन बनें। इस सपने के साथ उन्होंने असम पुलिस की अपनी नौकरी छोड़कर अपना जीवन बॉक्सिंग को समर्पित कर दिया है।