देश में एक तरफ कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं तो दूसरी तरफ पूर्वोत्तर के राज्य संक्रमण से मुक्त होते जा रहे हैं। अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर के बाद अब त्रिपुरा भी कोरोना से पूरी तरह से मुक्त हो गया है। पूर्वोत्तर के राज्य अपनी भौगोलिक स्थिति और भारत के बाकी राज्यों से दूरी पर होने की वजह से कोरोना महामारी की चपेट में ज्यादा नहीं आ सके हैं।


त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने गुरुवार को बताया कि उनका राज्य कोरोना वायरस से मुक्त हो गया है। त्रिपुरा में कोरोना के दो मामले सामने आए थे और अब दोनों पूरी तरह से ठीक होकर अपने घरों को लौट चुके हैं। सीएम ने ट्वीट कर लिखा कि त्रिपुरा को कोरोना मुक्त होने पर वह लोगों से सामाजिक दूरी और सरकारी दिशा-निर्देशों का पालन करने का अनुरोध करते हैं। घर पर रहिए, सुरक्षित रहिए।'


त्रिपुरा में पहली कोरोना पॉजिटिव मरीज एक महिला थी, जो गोमती जिले के उदयपुर शहर की रहने वाली थी। वह लॉकडाउन से ठीक पहले राज्य वापस लौटी थी। छह अप्रैल को उसकी टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, जो 16 अप्रैल को अस्पताल से ठीक होकर अपने घर वापस लौट चुकी है।


वहीं, दूसरा मरीज त्रिपुरा राज्य राइफल्स का एक जवान था जो 16 अप्रैल को उत्तरी त्रिपुरा के डामचेरा में पॉजिटिव पाया गया था, उसे जीबी पंत अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन गुरुवार को उसकी टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई है। इसी के साथ अब त्रिपुरा कोरोना मुक्त हो गया है।


मणिपुर में कोरोना के महज दो मामले सामने आए थे, जो अब पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने ट्वीट कर बताया था, 'मुझे ये बताते हुए खुशी हो रही है कि मणिपुर अब कोरोना मुक्त राज्य है। जो दो मरीज सामने आए थे, वह अब रिकवर हो गए हैं। अब दोनों का टेस्ट नेगेटिव आया है, ऐसे में राज्य में कोई नया केस नहीं सामने आया है। लॉकडाउन के सख्त पालन के चलते यह संभव हो सका है।'


पूर्वोत्तर के अरुणाचल प्रदेश में कोरोना संक्रमण का एक मामला सामने आया था, जो अब पूरी तरह से ठीक हो चुका है। ऐसे ही मिजोरम में कोरोना संक्रमण का एक मामला सामने आया है, लेकिन नगालैंड में कोरोना का एक भी केस नहीं आया है। इस तरह से नगालैंड कोरोना से पूरी तरह से सुरक्षित है। ऐसे ही गोवा में कोरोना संक्रमण के 7 मामले सामने आए थे और अब 7 ठीक होकर वापस घर जा चुके हैं।


पूर्वोत्तर की ओर नजर डाली जाए तो असम में सबसे ज्यादा कोरोना के मामले सामने आए हैं। असम में अब तक कोरोना के 36 मामले सामने आए हैं जबकि संक्रमण के चलते एक की मौत हो चुकी है। हालांकि, 19 लोग कोरोना से ठीक होकर घर जा चुके हैं। ऐसे में 17 कोरोना पॉजिटिव केस ही बचे हुए हैं। असम के बाद मेघालय में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं। अभी तक मेघालय में कोरोना के 12 मामले सामने आए हैं जबकि एक की मौत हो चुकी है।