म्यांमार सेना (Myanmar military) में मध्य-श्रेणी के अधिकारियों की पत्नियों को सैन्य प्रशिक्षण की खबरें आ रही है। कुछ अधिकारियों और उनकी पत्नियों ने यह दावा किया है कि सेना के कप्तानों और प्रमुखों के पति-पत्नी को मांडले क्षेत्र के प्यिन ऊ ल्विन में बटालियनों के साथ-साथ शान राज्य के ताउंगगी और आंगबन में प्रशिक्षित (trained) किया जा रहा है।
उनका प्रशिक्षण दो सप्ताह तक चलेगा। प्रशिक्षण के दौरान, उन्हें छोटे हथियारों और कुछ भारी हथियारों का उपयोग और बुनियादी सैन्य रणनीति सिखाई जाएगी।
उन्होंने दावा किया है कि आधिकारियों की पत्नियों को प्रशिक्षित किया जाएगा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि म्यांमार में सैन्य तख्तापलट (military coup) के बाद मानव संसाधनों की कमी का सामना कर रही है।

हालांकि प्रशिक्षण मध्य स्तर के अधिकारियों के लिए है, लेफ्टिनेंट कर्नल (lieutenant colonels) की पत्नियों को बाहर रखा गया है क्योंकि लेफ्टिनेंट कर्नल बटालियन के प्रमुख हैं। प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षण के लिए कोई विशेष कारण नहीं बताया गया था और अधिकारियों द्वारा उन्हें केवल यही बताया गया था कि प्रशिक्षण "आवश्यक" है।