रूस के पूर्व राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव ने दावा किया है कि यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोदिमिर जेलेंस्की को शांति संधि की जरूरत नहीं है क्योंकि वह ‘पश्चिम से पैसे और हथियारों की भीख मांगना’ जारी रखेंगे और कैमरे पर बिना दाढ़ी शेव किए दिखते रहेंगे।’

ये भी पढ़ेंः बीजेपी ने जनता दल (सेक्युलर) को दिया तगड़ा झटका, दिग्गज नेता ने थामा कमल


रूसी सुरक्षा परिषद के डिप्टी चेयरमैन और पूर्व राष्ट्रपति ने कहा, जेलेंस्की पश्चिम से पैसे और हथियारों के लिए भीख मांगना जारी रखेगा, यह साबित करते हुए कि वह खेल में है। वह यह भी साबित करने की कोशिश करेंगे कि वह ही उदार दुनिया की आशा है, वह ही यूरोपीय लोकतंत्र का आखिरी गढ़ हैं।

ये भी पढ़ेंः फिर बोतल से बाहर निकला हिजाब विवाद, अब गाजियाबाद कॉलेज में छात्राओं का प्रदर्शन


पूर्व राष्ट्रपति ने यह भी विश्वास व्यक्त किया कि यूक्रेनी नेता यूक्रेनियों के लिए चिंता जताते रहेंगे, जबकि वह इन्हें मानव ढाल के रूप में प्रयोग करने के लिए एक्सपोज हो चुके हैं। उनके अनुसार, जेलेंस्की के पास पद पर बने रहने का कोई दूसरा रास्ता नहीं है।