दंगल गर्ल जायरा वसीम मुस्लिम होने की वजह से फिल्मों को अलविदा कह चुकी हैं। वो आखिरी बार ‘द स्काई इज पिंक’ में दिखी थीं। लेकिन अब जायरा ने कर्नाटक में चल रहे हिजाब विवाद पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है। उन्होंने इंस्टाग्राम पर फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट शेयर किया है और मुस्लिम महिलाओं के समर्थन में अपनी बात रखी है।

यह भी पढ़ें : भूत जोलोकिया मिर्च से बनती है ये अरूणाचली चटनी, खाने वाले हमेशा रखते हैं याद

उन्होंने लिखा कि ‘यह धारणा चली आ रही है कि हिजाब एक पसंद है, गलत जानकारी है। सुविधा या अज्ञानता की वजह से ऐसी धारणा बनी है। इस्लाम में हिजाब पसंद नहीं बल्कि दायित्व है। इस तरह जब एक महिला हिजाब पहनती है तो वह उस ईश्वर द्वारा दिए गए दायित्व को पूरा कर रही है, जिसे वह प्यार करती है और खुद को उसे समर्पित कर दिया है।‘

जायरा आगे लिखती हैं कि ‘एक महिला के रूप में मैं कृतज्ञता और विनम्रता के साथ हिजाब पहनती हूं। मैं इस पूरी व्यवस्था के प्रति नाराजगी और विरोध प्रकट करती हूं जहां महिलाओं को धार्मिक प्रतिबद्धता के लिए रोका जा रहा है और उत्पीड़न हो रहा है। मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ पक्षपात को अपने मुताबिक बना लेना और एक ऐसी व्यवस्था स्थापित करना जहां उन्हें शिक्षा और हिजाब के बीच किसी एक को चुनना है या फिर उसे छोड़ना है, यह अन्याय से भरा है।‘
आप उन्हें एक विशेष पसंद को अपनाने पर मजबूर करने की कोशिश कर रहे हैं, जो आपके एजेंडे को चलाता है और फिर उनकी आलोचना करते हैं कि वे आपके द्वारा बनाए गए नियमों में कैद हैं।

यह भी पढ़ें : बेहद स्टाइलिश होती है मणिपुरी ड्रेस इनाफी, ये खूबियां जानकर पहनने का करेगा मन

जायरा आखिर में लिखती हैं कि यह उन लोगों के साथ पक्षपात नहीं तो और क्या है जो यह जता रहे हैं कि वह उनके सपोर्ट में कार्य कर रहे हैं? ऊपर से यह दिखाना कि यह सब सशक्तिकरण के नाम पर हो रहा है, इससे बुरा कुछ नहीं है। यह बिल्कुल उसके उलट है। दुखी हूं।