भारतीय मसाले आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर हैं। इनमें से एक है काली मिर्च। यह एक ऐसा ही मसाला है जो न केवल खाने के स्वाद को बढ़ाने बल्कि, शरीर को कई लाभ पहुंचाने में मददगार है। काली मिर्च का वैज्ञानिक नाम पाइपर निग्राम है। काली मिर्च को औषधी के रूप में खूब इस्तेमाल किया जाता है। काली मिर्च में विटामिन ए, विटामिन ई, विटामिन के, विटामिन सी और विटामिन बी6, थायमीन, नियासिन, सोडियम, पोटैशियम जैसे गुण पाए जाते हैं। 

ये भी पढ़ेंः  ज्ञानवापी मामले में सबसे बड़ा फैसला आज: वाराणसी जिला जज की अदालत पर टिकीं निगाहें, अलर्ट मोड पर यूपी पुलिस


खाली मिर्च को इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। काली मिर्च में पाए जाने वाले पोषक तत्व सर्दी-खांसी और वायरल फ्लू जैसी समस्याओं से बचाने में मदद कर सकते हैं। काली मिर्च को इंफ्केशन के लिए भी गुणकारी माना जाता है। तो देर किस बात की चलिए जानते हैं काली मिर्च से होने वाले लाभ।

इम्यूनिटी

काली मिर्च में विटामिन सी और एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। काली मिर्च से बने काढ़े का सेवन कर इम्यूनिटी को मजबूत बनाया जा सकता है। 

वेट-लॉस

काली मिर्च में मौजूद पाइपरिन और एंटीओबेसिटी प्रभाव वजन को कंट्रोल करने में मदद कर सकते हैं। काली मिर्च को डाइट में शामिल कर वजन को कंट्रोल किया जा सकता है।

ये भी पढ़ेंः  अब और अधिक शक्तिशाली होंगे चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग

डायबिटीज

अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं तो आपके लिए काली मिर्च का सेवन फायदेमंद हो सकता है। काली मिर्च में एंटी-हाइपरग्लाइसेमिक एजेंट होते हैं, जो रक्त में ग्लूकोज की मात्रा को कम करने में मदद कर सकते हैं।

स्किन

काली मिर्च सिर्फ स्वाद और सेहत ही नहीं बल्कि सुंदरता को भी बढ़ाने में मददगार है। काली मिर्च के तेल में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं। 

ब्लड प्रेशर

ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए भी काली मिर्च का सेवन करना काफी लाभकारी माना जाता है। काली मिर्च को किशमिश के साथ सेवन करने से ब्लड प्रेशर की समस्या को कंट्रोल में रखा जा सकता है।