मेघालय विधानसभा चुनाव में उम्मीदवारों के कई ऐसे नाम हैं जो आपको हैरान कर देंगे। ऐसे नाम जो कई विधानसभा सीटों से चुनाव लड़ने के लिए खड़े हुए है जिनमें इयान बॉथम, फ्रेंकस्टीन और नेहरू जैसे नाम शामिल है। यहां 27 फरवरी को चुनाव होने हैं और वोटों की गिनती 3 मार्च को होगी।
 

सर इयान टेरेंस बॉथम की तरह एक और नाम मेघालय में चुनाव की तैयारी कर रहा है। इनका पूरा नाम इयान बॉथम के संगमा है। बॉथम नेशनल पिपल्स पार्टी के उम्मीदवार हैं। यह कांग्रेस को कड़ी टक्कर दे रहे हैं। एनपीपी भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर मेघालय में चुनाव लड़ रही है। पूर्व लोकसभा स्पीकर पूर्णो अगितोक संगमा ने मणिपुर के लोगों के हित के लिए पार्टी गठित की।

 
इयान बॉथम इस पार्टी में नए हैं। उनके साथी नेता फ्रेंकस्टीन डब्लू मोमिन बुजुर्ग हैं। यह पहले भी मंदीपतार से कांग्रेस के लिए चुनाव लड़ा था और जीते थे। मंदीपतार के पूरब में मिलों दूर माओफलंग विधानसभा क्षेत्र में एक और बुजुर्ग चुनाव लड़ रहे हैं नाम है केनेडी कार्नेलियस ख़रीम। यह कांग्रेस के लिए चुनाव लड़ रहे हैं। थोड़ी ही दूरी पर पायनुरसला सीट से नेहरू चुनावी मैदान में खड़े हैं इनका पुरा नाम नेहरू सुटिंग है यह क्षेत्रीय युनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी से खड़े हैं। यह इस सीट पर कांग्रेस के मौजूदा विधायक प्रेस्टन तनसोंग को चुनौती दे रहे हैं।

 
मिस्टर सुटिंग अकेले नेहरू नहीं है। इस चुनाव में नेहरु डी संगमा भी निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में खड़े हैं। मेघालय में उम्मीदवार को रूप में लड़ रहे ये कुछ ही नाम है। चुनाव में ऐसे कई नाम है जो आपको हैरान कर देंगे। मेघालय में लोगों के नाम अद्भुत है सुनने में भी कई नाम अलग लगते हैं।
 

मेघालय चुनाव में सिर्फ ऐसे नाम नहीं है जिन्हें पूरी दुनिया पहचानता है। बल्कि ऐसे शहरों के भी नाम है जो आपको हैरान कर देंगे। बोस्टन मार्क पीपल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट के उम्मीदवार हैं। होल्डो लामिना कांग्रेस से, पोलैंडिंग सोहोपोह भाजपा से, क्रिस काबुल ए संगमा यूडीपी से डिलीराम जी मार्कर निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं। ऐसे कई लोग है जो पीढ़ियों से इस तरह के नाम के साथ आगे बढ़ रहे हैं।

 
यह पहली बार नहीं है जब इस तरह के नामों की चर्चा हो रही है इससे पहले भी मेघालय में चुनाव लड़ रहे ऐसे नामों की चर्चा थी। ये ना्म सिर्फ उम्मीदवारों के नहीं मतदाताओं के भी अजीब नाम चर्चा में हैं। इन चुनावों में अक्सर हिटलर,  अलेक्जेंडर, फ्रेंकस्टीन, न्यूटन जैसे नामों की चर्चा होती रहती है।