ऑटोमोबाइल इतिहास में टोयोटा पहली ऐसी कारमेकर बनने जा रही है जो अपनी गाड़ियों के लिए पैसे की जगह मक्का और सोयाबीन लेगी। कंपनी अब ब्राजील में सच में ऐसा करने जा रही है। जापानी ऑटो जाएंट ने इस नए और दिलचस्प डायरेक्ट सेल्स का ऐलान लैटिन अमेरिका कंट्री में किया है।

यह योजना कृषि क्षेत्र के ग्राहकों पर केंद्रित है। बाकी ग्राहकों के लिए टोयोटा वाहन पारंपरिक बिक्री के माध्यम से उपलब्ध होंगे। टोयोटा का दावा है कि वर्तमान में ब्राजील में उसकी प्रत्यक्ष बिक्री का 16% हिस्सा कृषि व्यवसाय क्षेत्र का है। इस नए प्रोग्राम से इसे और आगे बढ़ने में मदद मिलने की उम्मीद है। ‘टोयोटा बार्टर’ नाम की यह योजना ग्राहकों को नए वाहन के बदले मक्का और सोयाबीन का भुगतान करने की अनुमति देगी। ग्राहकों को वाहन की कीमत का भुगतान मक्का या सोयाबीन के वजन के हिसाब से करना होगा। मक्का या सोयाबीन की कीमत वाहन की कीमत के समान होनी चाहिए। इस योजना के तहत टोयोटा मॉडल जैसे हिलक्स पिकअप ट्रक, कोरोला क्रॉस एसयूवी या SW4 एसवी को खरीदा जा सकता है। SW4 मूल रूप से भारत में उपलब्ध Toyota Fortuner है।

हालांकि यहां एक पेंच है और वो ये है कि, टोयोटा यहां ग्राहकों के ग्रामीण प्रोडक्शन का सर्टीफिकेट चेक करेगी। वहीं कंपनी इस पर भी नजर दौड़ाएगी की जो कृषि प्रोडक्ट्स हैं उनकी क्वालिटी अच्छी है या नहीं। टोयोटा बार्टर जापानी कार ब्रैंड का बिल्कुल नया प्रोग्राम नहीं है। बता दें कि, इसे पहली बार 2019 में एक पायलट प्रोजेक्ट के रूप में वापस पेश किया गया था। अब कार निर्माता ने इस अनूठी बिक्री तरीके को आधिकारिक बना दिया है। वर्तमान में, यह कार्यक्रम ब्राजील के चुनिंदा राज्यों में उपलब्ध है। इनमें शामिल हैं – बाहिया, गोइआस, माटो ग्रोसो, मिनस गेरैस, पियाउई और टोकैंटिन्स। ऑटोमेकर पूरे देश में सेवा का विस्तार करने की योजना बना रहा है।