उत्तर प्रदेश में भाजपा की शानदार जीत के बाद एक बार फिर राज करने के लिए योगी आदित्यानाथ ने अपनी सीएम की सीट को कायम रखते हुए मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले हैं। योगी गोरखपुर सदर सीट से विधायक हैं और आज उन्होंने यूपी विधान परिषद की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। यूपी कैबिनेट की बात करें तो इस बार 3-4 Deputy CM बनाए जा सकते हैं।

पार्टी सूत्रों ने जानकारी देते हुए बताया कि 55-60 मंत्री भी बनाए जाने की संभावना है। इसी के साथ डिप्टी सीएम पद की दौड़ में केशव प्रसाद मौर्य, डॉक्टर दिनेश शर्मा, बेबी रानी मौर्य, असीम अरुण और बृजेश पाठक का नाम आगे है। इसके अलावा मंत्रियों की लिस्ट 24 मार्च को फाइनल हो सकती है। यूपी सरकार में इस बार मंत्री 2024 के लोक सभा चुनाव को ध्यान में रखकर बनाए जाएंगे।

यह भी पढ़ें- फांगनोन कोन्याक हो सकती है नागालैंड को पहली महिला राज्यसभा सांसद

अपना दल (एस) और निषाद पार्टी के कोटे से भी मंत्री बनेंगे। मंत्रिमंडल के लिए दिल्ली में नामों पर चर्चा चल रही है। मंत्रिमंडल के लिए 132 नामों पर चर्चा की जा रही है। इसके अलावा जौनपुर से गिरीश यादव, मऊ से रामविलास चौहान, वाराणसी से अनिल राजभर, रवींद्र जायसवाल और नीलकंठ तिवारी, सोनभद्र से भूपेश चौबे और संजय गौड़, मिर्जापुर से रमाशंकर पटेल या अनुराग सिंह पटेल, सीतापुर से राकेश गुरु और आशा मौर्य, शाहजहांपुर से सुरेश खन्ना और जितिन प्रसाद, हरदोई से नितिन अग्रवाल, रजनी तिवारी, शशांक वर्मा और लोकेंद्र सिंह, गोंडा से रमापति शास्त्री और अयोध्या से रामचंद्र यादव को मंत्री बनाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें- इस कारण से हुआ था China का plane crash, जानिए रोंगटे खड़े कर देने वाला राज


बताया जा रहा है कि गोरखपुर से राजेश त्रिपाठी और श्री राम चौहान, कुशीनगर से पीएन पाठक और सुरेंद्र कुशवाहा, देवरिया से जयप्रकाश निषाद, सूर्यप्रताप शाही और सुरेंद्र चौरसिया, महाराजगंज से ज्ञानेंद्र सिंह और प्रेमसागर पटेल, बस्ती से अजय सिंह, सिद्धार्थनगर से राजा जयप्रताप सिंह, बलिया से दयाशंकर सिंह, प्रयागराज से केशव प्रसाद मौर्य, नंदगोपाल नंदी, सिद्धार्थनाथ सिंह और प्रवीण पटेल, प्रतापगढ़ से राजेंद्र मौर्य और महेंद्र सिंह के नाम पर मंत्री बनाने पर विचार चल रहा है।