कोरोना के दौर में देश के की राज्यों में लॉकडाउन लागू है। इसी दौरान कई तरह की पाबंदियों के बीच कुछ छूट दे रखी है। अब कोरोना को पूरे तरीके से खत्म करने के लिए और कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए सरकार फिर लॉकडाउन लागू करने पर विचार कर रही है। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार कोरोना कर्फ्यू हटाने पर विचार कर रही है।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यानथ बैठक में लॉकडाउन पर अंतिम फैसला ले सकते है। बता दें कि हमीरपुर जिले में पिछले 24 घंटे में एक भी नए केस सामने नहीं आए, जबकि 19 जिले ऐसे हैं, जहां संक्रमण के मामले सिंगल डिजिट में है. कर्फ्यू में ढील को लेकर आज प्रशासन की तरफ से गाइडलाइन जारी की जा सकती हैं। राजधानी लखनऊ सहित पांच जिले ऐसे हैं जहां अभी रोजाना 100 से अधिक मामले सामने आ रहे हैं।


सूत्रों ने बताया है कि कम संक्रमण दर वाले जिलों के जिलाधिकारियों को कोरोना कर्फ्यू हटाने की छूट दी जा सकती है। इसी के साथ बाजारों को एक साथ खोलने की बजाए इस तरह खोलने की योजना है कि एकदम से भीड़ न बढ़े और कोरोना प्रोटोकॉल का पालन होता रहे। प्रदेश में तेजी से घट रही संक्रमण रेट को देखते हुए सरकार जनता को राहत देने के मूड में है। निर्माण से जुड़ी सामग्री की दुकान, 50 प्रतिशत कर्मी क्षमता के साथ बड़ी दुकान या रेस्टोरेंट को खोलने की अनुमति दी जा सकती है।

शॉपिंग मॉल, फिल्म थिएटर, सैलून व सभी प्रकार के सामाजिक, धार्मिक व राजनीतिक कार्यक्रम पर रोक बनी रहेगी। इसी तरह कंटेनमेट जोन की सभी दुकानों को बंद रखा जाएगा। यूपी में कोरोना से रिकवरी रेट 97 फीसदी तक पहुंच गया है. जिसके बाद सरकार कर्फ्यू में थोड़ा राहत दे सकती है। बता दें कि प्रदेश में बीते 24 घंटों में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 2,287 नये केस आए हैं।