लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार शिक्षा व्यवस्था को सुदृढ बनाने के क्रम में छात्रों तक अध्ययन सामग्री को आसानी से उपलब्ध कराने के लिये ई-लाइब्रेरी पोर्टल शुरु कर रही है। 

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से गुरुवार को जारी बयान के अनुसार शिक्षा विभाग की 100 दिनों की कार्ययोजना के मुताबिक ई-लाइब्रेरी पोर्टल की मदद से किताबों तक छात्रों की पहुंच आसान होगी और छात्र कहीं भी रहकर अपनी पढ़ाई कर सकेंगे। 

ये भी पढ़ेंः 400 किलोमीटर की जबरदस्त रेंज के साथ 11 मई को लॉन्च होगी नई टाटा नेक्सॉन ईवी, पहले से ज्यादा पावरफुल


ई-लाइब्रेरी पोर्टल पर सम सामायिक और सन्दर्भ सामग्री उपलब्ध रहेगी। इसके माध्यम से सतत अध्ययन सुविधा मिलने के कारण लगभग 30 लाख विद्यार्थी लाभान्वित होंगे। 

राज्य सरकार द्वारा विकसित किये जा रहे ई-लाइब्रेरी पोर्टल के माध्यम से छात्र कहीं भी कभी भी अध्ययन से सम्बंधित अपनी समस्याओं का समाधान या प्रश्नों के उत्तर अपने मोबाइल फोन और टैबलेट पर पा सकेंगे। 

ये भी पढ़ेंः फेसबुक और इंस्‍टाग्राम ने नई भर्तियों पर लगाई रोक, खर्च में कटौती के लिए रणनीति में बड़ा बदलाव


यह पोर्टल विकसित करने से जुड़े जानकारों का दावा है कि शिक्षा को मनोरंजक तरीके से छात्रों तक पहुंचाने के लिये ई-लाइब्रेरी उपयोगी साबित होगी। इससे शिक्षा के स्तर में बढोतरी तो होगी ही साथ ही डिजिटल शिक्षा को एक नया आयाम हासिल होगा।