योगी सरकार (Yogi government) बाढ़ से बर्बाद हुई फसलों की भरपाई के लिए 35 जिलों के 90950 किसानों को कृषि निवेश अनुदान के अंतर्गत मुआवजा देने का ऐलान कर दिया है। इन जिलों में किसानों को मुआवजा देने के लिए 30.54 करोड़ रुपये आवंटित भी कर दिए गए हैं। अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने बताया कि इस संबंध में शासनादेश जारी हो चुका है और जल्द ही बाढ़ से प्रभावित किसानों को साहयता राशि मिलने लगेगी।

अपर मुख्य सचिव राजस्व ने कहा है कि वर्ष 2021-22 में बाढ़ से क्षतिग्रस्त हुई फसलों से प्रभावित होने वाले किसानों को कृषि निवेश अनुदान के अंतर्गत राहत सहायता प्रदान किया जाएगा। राह आयुक्त कार्यालय की वेबसाइट पर मंगलवार तक यानी 26 अक्तूबर 2021 तक 4,77,581 प्रभावित किसानों का डाटा फीड किया गया। इसके आधार पर 15928.95496 लाख रुपये किसानों को राहत राशि देने की मांग की गई है। राजस्व विभाग ने प्रदेश के 35 जिलों के 90950 किसानों को कृषि निवेश अनुदान देने के लिए 30.54 करोड़ रुपये आवंटित कर दिए गए हैं और जल्द ही किसानों तक मुआवजा पहुंचना शुरू हो जाएगा।

इस लिस्ट के मुताबिक अंबेडकरनगर, अलीगढ़, आजमगढ़, कानपुर देहात, कानपुर शहर, कुशीनगर, खीरी, गाजीपुर, गोंडा, गोरखपुर, चंदौली, चित्रकूट, जालौन, झांसी, देवरिया, पीलीभीत, बलरामपुर, बलिया, बस्ती, बहराइच, बाराबंकी, बिजनौर, मऊ, महराजगंज, महोबा, मीरजापुर, मुरादाबाद, ललितपुर, वाराणसी, श्रावस्ती, संतकबीरनगर, सिद्धार्थनगर, सीतापुर, सुल्तानपुर व हमीरपुर के डीएम को मुआवजा बांटने के निर्देश दे दिए गए हैं।