योगी सरकार (Yogi government) अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती (Birth anniversary of Atal Bihari Vajpayee) पर 25 दिसंबर से प्रदेश के छह शहरों लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, झांसी, गोरखपुर और वाराणसी में 200 एसी इलेक्ट्रिक बसें (200 AC electric buses in six cities चलाने जा रही है। इन बसों का किराया न्यूनतम पांच से लेकर 37 रुपये तक होगा।

नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन (Urban Development Minister Ashutosh Tandon) के मुताबिक प्रदेश के 14 शहरों में 700 एसी बसें चलाई जानी हैं। इन बसों में साधारण किराया लिया जाएगा। इनको चरणबद्ध तरीके से चलाया जाएगा। लखनऊ में 140, आगरा व कानपुर में 100-100, मथुरा-वृंदावन, गाजियाबाद, मेरठ, वाराणसी व प्रयागराज में 50-50 बसें और अलीगढ़, बरेली, मुरादाबाद, शाहजहांपुर, गोरखपुर व झांसी में 25-25 बसें चलाई जाएंगी। लखनऊ में 40 बसें चलाई जा रही हैं। इस बेड़े में 17 और बसें शामिल हो गई हैं।

अपर मुख्य सचिव नगर विकास डॉ. रजनीश दुबे ने चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर और बसों की आपूर्ति के बारे में बैठक कर समीक्षा की। उन्होंने बताया कि लखनऊ में पांच चार्जिंग स्टेशन बनाए गए हैं। दुबग्गा, वृंदावन योजना शहीद पथ, राम-राम बैंक चौराहा और विराजखंड चार्जिंग स्टेशन बन गए हैं। राजाजीपुरम में चार्जिंग स्टेशन लगाने की तैयारी चल रही है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि 25 दिसंबर तक अन्य शहरों में चार्जिंग स्टेशन हर हाल में स्थापित हो जाएं।

अपर मुख्य सचिव ने कहा है कि चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर पीएमवाई इलेक्ट्रो मोबिलिटी सॉल्यूशंस प्रालि. कंसॉशियम द्वारा स्थापित किया जा रहा है। मेंटीनेंस डिपों बनाने का काम सीएंडडीएस कर रहा है। गोरखपुर और वाराणसी के सीएंडडीएस के परियोजना अधिकारियों को समय से काम पूरा करने का निर्देश दिया गया है। मंडलायुक्तों को बसों को चलाने के लिए इलेक्ट्रानिक टिकटिंग मशीन व फेयर कलेक्शन एजेंसी के माध्यम से कंडक्टरों की तैनाती जैसी व्यवस्थाएं कराने के निर्देश दिए गए हैं।