उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने प्रतापगढ़ में बाबा भयहरण नाथ धाम को धार्मिक पर्यटन के केंद्र के रूप में विकसित करने की योजना बनाई है। बाबा भयहरण नाथ धाम एक प्राचीन शिव मंदिर है, जो कि बकुलाही नदी के तट पर कटरा गुलाब सिंह गांव में स्थित है। इस मंदिर में एक शिव लिंग है और माना जाता है कि इसे पांडवों ने स्थापित किया था।

ऐसी किवदंती है कि बकासुर राक्षस का वध करने के बाद भीम ने भयहरण नाथ के इस शिव लिंग को स्थापित किया था। इसके बाद कई संत श्री नागा बाबा और श्री दांडी बाबा आदि इस स्थान पर रहे। बाबा भयहरण नाथ धाम प्रतापगढ़ जिले के विश्वनाथगंज विधानसभा क्षेत्र में आता है। मंदिर समिति के सदस्यों ने कहा कि राज्य सरकार ने इस धाम के विकास के लिए 49.25 लाख रुपये की धनराशि आवंटित की है।

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत राज्य के 373 विधानसभा क्षेत्रों में 180 करोड़ रुपये की पर्यटन विकास की परियोजनाओं की आधारशिला रखी है। धाम के महासचिव समाज शेखर ने कहा, ‘‘पांडव युग का प्रसिद्ध भयहरण नाथ धाम इस क्षेत्र में प्रकृति और समाज के विकास का केंद्र है।’’ इसके अलावा यह मंदिर प्रतापगढ़ और प्रयागराज की सीमा पर स्थित है, इसलिए 2025 तक इसे एक प्रमुख पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने की योजना है।