उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में इस बार सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और समजवादी पार्टी (सपा) आमने-सामने है। प्रदेश के सभी दलों ने अपने-अपने अधिकांश उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है। इसके साथ ही अब सर्वे एजेंसियों की भी रिपोर्ट भी सामने आ रही हैं। लगभग सभी सर्वे में योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता सबसे अधिक दिखाई है। विभिन्न एजेंसियों के सर्वे में शामिल अधिकांश लोग उनके कामकाज से खुश नजर आ रहे हैं। यही कारण है कि वे दोबारा यूपी की कमान उनकी हाथों में देने के लिए तैयार दिख रहे हैं। 

बता दें कि उत्तर प्रदेश में इस साल 10 फरवरी से 7 मार्च तक सात चरणों में मतदान होना है। जबकि वोटों की गिनती 10 मार्च को होगी। उत्तर प्रदेश में कुल 403 विधानसभा सीटों पर मतदान होगा। राज्य में कुल मतदान केंद्रों की संख्या 1,74,351 होगी और लगभग 15 करोड़ से अधिक मतदाता इस चुनाव में मतदान करने के पात्र होंगे।

टाइम्स नाउ-वीटो ओपिनियन पोल

टाइम्स नाउ-वीटो ओपिनियन पोल के के अनुसार, भाजपा और उसके गठबंधन सहयोगियों को लगभग 212-231 विधानसभा क्षेत्रों में जीत की उम्मीद है। समाजवादी पार्टी के नेतृत्व वाले गठबंधन के लिए 147-158 निर्वाचन क्षेत्रों पर कब्जा करने का अनुमान लगाया है। वहीं, बसपा 10-16, कांग्रेस 9-15, अन्य 2-5 पर कब्जा कर सकती है।

एबीपी न्यूज-सी वोटर ओपिनियन पोल

एबीपी न्यूज-सी वोटर ओपिनियन पोल में उत्तर प्रदेश में बीजेपी को इस बार 223 से 235 सीटें मिलने की संभावना है। वहीं समाजवादी पार्टी को 145 सीटों से 157 सीटें मिल सकती हैं। बीएसपी के खाते में 8 से 16 सीटें जाती दिख रही हैं। सर्वे के मुताबिक, कांग्रेस को महज 3 से 7 सीटों पर संतोष करना पड़ सकता है।

टाइम्स नाउ-वीटो ओपिनियन पोल

टाइम्स नाउ-वीटो ओपिनियन पोल में भाजपा और उसके गठबंधन सहयोगियों को लगभग 212-231 विधानसभा क्षेत्रों में जीत की उम्मीद है। समाजवादी पार्टी के नेतृत्व वाले गठबंधन के लिए 147-158 निर्वाचन क्षेत्रों पर कब्जा करने का अनुमान लगाया है। वहीं, बसपा 10-16, कांग्रेस 9-15, अन्य 2-5 पर कब्जा कर सकती है।

एबीपी न्यूज-सी वोटर ओपिनियन पोल

एबीपी न्यूज-सी वोटर ओपिनियन पोल में उत्तर प्रदेश में बीजेपी को इस बार 223 से 235 सीटें मिलने की संभावना है। वहीं समाजवादी पार्टी को 145 सीटों से 157 सीटें मिल सकती हैं। बीएसपी के खाते में 8 से 16 सीटें जाती दिख रही हैं। सर्वे के मुताबिक, कांग्रेस को महज 3 से 7 सीटों पर संतोष करना पड़ सकता है।

ज़ी ओपिनियन पोल

ज़ी ओपिनियन पोल में बीजेपी+ को 245-267 और एसपी+ को 125-148 सीटें मिलने की संभावना है।  मायावती की बसपा 5-9 सीटों के बीच कहीं जीत सकती है और कांग्रेस को सिर्फ 3-7 सीटों के साथ समझौता करने की संभावना है। अन्य को 2-6 सीटें मिल सकती हैं।

इंडिया टीवी ओपिनियन पोल

इंडिया टीवी ओपिनियन पोल में बीजेपी को 242-244 सीटें, सपा को 148-150 सीटें, बसपा को 4-6 सीटों पर, कांग्रेस को 3-5 सीटों पर और अन्य 1-3 सीट के बीच जीत सकती है। 

रिपब्लिक-पी मार्क ओपिनियन पोल

रिपब्लिक-पी मार्क ओपिनियन पोल बीजेपी को 252-272 सीटें मिल सकती हैं। वहीं समाजवादी पार्टी को फिर विपक्ष में ही बैठना पड़ सकता है। सपा के खाते में में 111-131 सीटें जाती दिख रही हैं। बीएसपी और कांग्रेस की स्थिति सर्वे में काफी खराब है। मायावती की पार्टी को महज 8-16 सीटों से संतोष करना पड़ सकता है। कांग्रेस के खाते में सिर्फ 3-9 सीटें जाती दिख रही हैं।

जनमत सर्वे पर बैन की मांग

बता दें कि समाजवादी पार्टी ने राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के साथ चुनाव आयोग से जनमत सर्वेक्षणों पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। उनका आरोप है कि इससे मतदाता प्रभावित हो रहे हैं। रालोद के राष्ट्रीय सचिव अनिल दुबे ने हाल ही में राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी से मुलाकात कर इस संबंध में ज्ञापन सौंपा है।