सूबे की योगी सरकार (Yogi government) ने राज्य सरकार के 28 लाख (Gift of bonus and dearness allowance to 28 lakh employees) कर्मचारियों और पेंशनर को दिवाली से पहले बोनस और महंगाई भत्ते का तोहफा दे दिया. वित्‍त विभाग द्वारा बनाए गए बोनस के प्रस्ताव तैयार को सीएम योगी आदित्‍यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने मंजूरी दे दी है. इसका भुगतान अक्टूबर की सैलरी के साथ नवम्बर में किया जाएगा.

जानकारी के मुताबिक कर्मचारियों और पेंशनरों को बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता और महंगाई राहत (increased dearness allowance and dearness relief) भी सैलरी के साथ देने की बात हो रही है. हालांकि अभी इस संबंध में आदेश प्राप्त नहीं हुआ है. बता दें राज्य के अराजपत्रित कर्मचारियों को एक महीने का तदर्थ बोनस देने का (one month ad-hoc bonus to the non-gazetted employees) प्रस्ताव वित्त विभाग ने तैयार किया था.

सूत्रों  के मुताबिक कर्मचारियों को 30 दिन का 6,908 रुपये बोनस मिल सकता है.  पहले की तरह ही बोनस का 25 प्रतिशत भाग कैश और 75 प्रतिशत जीपीएफ में भेजा जाएगा. इसके साथ ही 25 प्रतिशत ही नगद भुगतान के हिसाब से कर्मचारियों को बोनस के 6,908 रुपयों में से 1,727 हाथ में मिलेंगे, बाकी का जी पीएफ में डाला जायेगा. बताया जा रहा है कि 4800 रुपये ग्रेड पे तक के 12 लाख से अधिक अराजपत्रित कर्मचारियों को तदर्थ बोनस मिलेगा.

उत्‍तर प्रदेश के कर्मचारी और पेंशनर मौजूदा समय में 28 फीसदी महंगाई भत्ता और महंगाई राहत पा रहे हैं. इसे बढ़ाकर 31 प्रतिशत किए जाने का प्रस्ताव है. राज्‍य के 28 लाख कर्मचारियों व पेंशनरों को बढ़ा हुआ डीए और डीआर भी अक्टूबर की सैलरी के साथ नवम्बर में दे दिया जाएगा. बताया जा रहा है कि सरकार जुलाई से सितंबर तक का डीए कर्मचारियों के जीपीएफ खाते में भेज सकती है. इससे संबंधित प्रस्ताव भी तैयार किया जा रहा है. जिसे मुख्यमंत्री के पास भेजा गया है. इसकी भी सैद्धांतिक मंजूरी मिल जाएगी.