उत्तर प्रदेश में ध्वनि प्रदूषण पर नियंत्रण के लिये न्यायालय के आदेश पर धार्मिक स्थलों में मानकों मुताबिक लाउडस्पीकर के इस्तेमाल को सुनिश्चित करने के लिये चलाये जा रहे अभियान के तहत बुलंदशहर जिले में शनिवार तक 939 धार्मिक स्थलों से लाउड स्पीकर उतरवाये गये। स्थानीय प्रशासन की ओर से दी गयी जानकारी के मुताबिक पुलिस, प्रशासन और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी एवं कर्मचारियों की संयुक्त टीम ने जिले में 939 धार्मिक स्थलों से लाउड स्पीकर हटवाने के अलावा 987 धार्मिक स्थलों पर लगे लाउड स्पीकरों की ध्वनि तीव्रता मानक के अनुरुप कम करा दी है। 

यह भी पढ़े : इस राज्य में भाजपा गठबंधन की लगी लॉटरी, नागा पीपुल्स फ्रंट के 21 विधायकों का NDPP में विलय

बुलंदशहर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने बताया कि माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुपालन में जिले में धार्मिक स्थलों से बिना अनुमति प्राप्त किए लगे लाउड स्पीकर उतरवाने और लाउड स्पीकरों की ध्वनि तीव्रता को कम कराने का अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस अभियान के तहत गठित संयुक्त टीम धार्मिक स्थलों की प्रबंध समिति, पुजारी, मंदिर के सेवकों, मस्जिदों की इंतजामिया कमेटी और धर्मगुरुओं से बातचीत कर रही है। 

यह भी पढ़े : Shani Gochar : 30 साल बाद कुंभ राशि आए शनि देव, धनु राशि वालों को साढ़े साती से छुटकारा, जानिए सभी राशियों पर प्रभाव

सिंह ने बताया कि बातचीत में उनको उच्चतम न्यायालय के आदेश की जानकारी दी जाती है जिसके अनुपालन में अब तक 375 मंदिरों और 564 मस्जिदों से बिना अनुमति लगे, लाउडस्पीकरों को उतरवा दिया गया है। इसके अलावा 485 मंदिर और 502 मस्जिदों में लगे लाउड स्पीकरों की ध्वनि को कम करवा दिया है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के निर्देश पर उच्चतम न्यायालय के आदेश का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करने एवं धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर उतरवाने या ध्वनि की तीव्रता कम कराने के लिये संयुक्त टीम के अधिकारियों को संबंधित पक्षों से वार्ता करने के निर्देश दिये गये हैं।