उत्तरप्रदेश में पूर्ण बहुमत के साथ राज्य की सत्ता पर वापसी करने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जबरदस्त एक्शन में हैं। सीएम योगी अपनी बैठकों में जनता के काम में कोताही बरतने वालों पर सख्त कार्रवाई करने की चेतावनी दे चुके हैं। इस बीच एक बार फिर से यूपी में शहरों के नाम बदलने की तैयारी है। इन 12 शहरों में से 6 जिलों के नाम पहले बदले जाएंगे।

खबर है कि इन शहरों में अलीगढ़, फर्रुखाबाद, सुल्तानपुर, बदायूं, फिरोजाबाद और शाहजहांपुर का नाम शामिल है। अलीगढ़ का नाम बदलने के लिए पिछले साल 6 अगस्त, 2021 को पंचायत कमेटी ने अपने नए अध्यक्ष विजय सिंह की अगुआई में नाम बदलने के साथ नए नाम का प्रस्ताव भी पारित किया था। अब इस जिले का नाम हरिगढ़ या फिर आर्यगढ़ रखने की तैयारी की जा रही है।

जबकि, फर्रुखाबाद जिले से भी लगातार दूसरी बार सांसद बने मुकेश राजपूत ने हाल ही में फर्रुखाबाद का नाम बदलकर पांचाल नगर करने की मांग की है। उन्होंने योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर कहा है कि यह जिला द्रौपदी के पिता द्रुपद पांचाल राज्य की राजधानी थी। इसीलिए इसका नाम पांचाल नगर होना चाहिए।

यह भी पढ़ें : फिर उलझ सकता है सीमा विवाद, मेघालय में रहना चाहते हैं जयंतिया हिल्स जिले के 26 गांव

इसी तरह सुल्तानपुर की लंभुआ सीट से बीजेपी के विधायक रहे देवमणि द्विवेदी जिले का नाम बदलकर ‘कुशभवनपुर’ करने का प्रस्ताव सरकार को भेज चुके हैं। शाहजहांपुर से विधायक रहे मानवेंद्र सिंह ने योगी सरकार के पास जिले का नाम बदलने का प्रस्ताव भेज चुके हैं। उन्होंने शाहजहांपुर का नाम ‘शाजीपुर’ रखने का सुझाव दिया है। इसी तरह फिरोजाबाद में 2 अगस्त 2021 को हुई बैठक में जिले का नया नाम चंद्र नगर रखने का प्रस्ताव पारित हुआ था। हालांकि बदायूं का नाम बदलने के लिए अभी कोई प्रस्ताव नहीं आया है, लेकिन सीएम योगी की लिस्ट में इस जिले का भी नाम है।

UP के मुख्यमंत्री होने के साथ-साथ योगी आदित्यनाथ गोरखपुर के प्रसिद्ध गोरखनाथ मंदिर में स्थित मठ के महंत हैं। यूपी का सीएम बनने से पहले ही उन्होंने गोरखपुर का सांसद रहने के दौरान कई इलाकों का नाम बदलवा दिया था। इस कड़ी में उर्दू बाजार को हिंदी बाजार, हुमायूंपुर को हनुमान नगर, मीना बाजार को माया बाजार और अलीनगर को आर्य नगर किया गया था। वहीं उनके पिछले कार्यकाल में मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम पं. दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर किया गया, तो इलाहाबाद को प्रयागराज और फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या कर दिया गया।

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार का बड़ा कदम, मेघालय में 40 पवित्र उपवनों पर 2 करोड़ खर्च

इन जिलों में भी तैयार हो रहे प्रस्ताव

आगरा- 

अंबेडकर यूनिवर्सिटी में आगरा की जगह अग्रवन जिले का नए नाम के पक्ष में साक्ष्य जुटाने का काम चल रहा है।

मैनपुरी- 

16 अगस्त को ही मैनपुरी में जिला पंचायत स्तर की एक बैठक के बाद नया नाम मयान पुरी करने की मांग की गई।

गाजीपुर- 

यहां से दिग्गज नेता कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय एक साल पहले ही गाजीपुर का नाम बदलकर गढ़ीपुरी करने की मांग कर चुकी हैं।

कानपुर- 

कानपुर देहात के रसूलाबाद और सिकंदराबाद और अकबरपुर रनियां में नामों को लेकर प्रस्ताव बनाने के लिए प्रशासन को निर्देश मिले हैं।

संभल- 

जिले का नाम कल्कि नगर या फिर पृथ्वीराज नगर करने की मांग उठ रही है।

देवबंद- ‌

BJP विधायक ब्रजेश सिंह रावत ने भी देवबंद का नाम देववृंदपुर करने की मांग की है।