केंद्र और पश्चिम बंगाल सरकार के बीच तनातनी खत्म होने का नाम नहीं ले रही है।  मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय के तबादले को लेकर घमासान जारी है।  इस बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बड़ा दांव खेला है।  उन्होंने अलपन बंदोपाध्याय को अपना मुख्य सलाहकार बनाने का ऐलान किया है।  मंगलवार से अलपन बंदोपाध्याय मुख्य सलाहकार के तौर पर काम शुरू करेंगे। 

ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा, मैं अलपन बंदोपाध्याय को बंगाल छोडऩे नहीं दूंगी।  चूंकि अलपन बंदोपाध्याय 31 मई को अपनी सेवा से सेवानिवृत्त हुए हैं, इसलिए वह दिल्ली में शामिल नहीं होने जा रहे हैं।  वह अब मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार हैं।  ममता बनर्जी ने आगे कहा कि अलपन 1 जून यानि की मंगलवार से मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार का कार्यभार संभालेंगे।