चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Xiaomi ने एक नई बैटरी तकनीक की घोषणा की है। यह तकनीक अगले वर्ष उपलब्ध हो सकती है। यह चीनी मशीन ट्रांसलेटेड उससे थोड़ी अलग हो सकती है। Xiaomi कंपनी बैटरी के अंदर सिलिकॉन कंटेंट को लगभग 3 गुना बढ़ाने में सक्षम है और इसके परिणामस्वरूप यह ज्यादा स्टोरेज कैपेबिलिटी में बढ़िया रही है।

अब इस नई बैटरी की बात की जाए तो यह एक ही साइज की होगी और लगभग 10 फीसद ज्यादा एमएएच फिट करने में सक्षम होगी। एक बार चार्ज होने पर 100 मिनट का अतिरिक्त रनटाइम उपलब्ध कराएगी। इसमें पैकेजिंग तकनीक को भी नया रूप दिया गया है जिससे स्पेस में भी सुधार हुआ है।PCM (प्रोटेक्शन सर्किट मॉड्यूल) को 90-डिग्री पर एंगल किया गया है और अब यह फ्लैट यानी समतल नहीं है ऐसे में यह कुछ जगह बचाएगा। Xiaomi ने नई बैटरी को फ्यूल गेज चिप से लैस किया है जो सुरक्षा और सेल्क के जीवन काल को बेहतर बनाने वाले एडवांस एल्गोरिदम पर निर्भर करता है क्योंकि यह रात भर चार्जिंग पर अपनी नजर बनाए रखता है और इससे होने वाले नुकसान को खत्म करता है।जब हैंडसेट को बहुत लंबे समय तक प्लग किया जाता है तो यह ओवरचार्ज की स्थिति को कम करने में सक्षम होगी। इसके साथ ही अतिरिक्त सेंसर का इस्तेमाल कर कुछ टैम्प्रेचर कंट्रोल भी उपलब्ध कराएगा। जीएसएम एरिना के मुताबिक, इस तरह की पहली बैटरी अगले वर्ष तक उपलब्ध हो सकती है।