भारतीय क्रिकेट टीम से बाहर किए गए अनुभवी विकेटकीपर रिद्धिमान साहा (wriddhiman saha) ने कहा है कि वह उस पत्रकार का नाम कतई उजागर नहीं करेंगे जिसने उनके खिलाफ आक्रामक रवैया अपनाते हुए ट्वीट किये थे। इससे पहले भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) (BCCI) विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा से शनिवार को उनके द्वारा पोस्ट किए गए एक ट्वीट की व्याख्या करने के लिए कहेगा, जिसमें आरोप लगाया गया था कि साहा के एक साक्षात्कार के अनुरोध का जवाब नहीं देने के बाद एक पत्रकार ने उनके साथ आक्रामक लहजा अपनाया था। 

ये भी पढ़ें

यूपी में कांग्रेस की सरकार आने से युवाओं को मिलेगी नौकरी, भूपेश बघेल ने किया दावा!

श्रीलंका के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज (Ind Vs SL) के लिए भारतीय टीम से बाहर किए गए साहा ने शनिवार को ट्विटर पर मैसेज का एक स्क्रीनशॉट प्रकाशित किया था, जो एक सम्मानित पत्रकार ने उन्हें भेजा था। स्क्रीनशॉट में रिपोर्टर ने साहा  (wriddhiman saha) से उनके साथ एक साक्षात्कार करने के लिए अनुरोध किया था, जिसका साहा ने कोई जवाब नहीं दिया। इस चर्चा के अंत में, रिपोर्टर ने साहा से कहा, आपने फोन नहीं किया। फिर कभी मैं आपका साक्षात्कार नहीं करूंगा। मैं अपमान नहीं लेता और मैं इसे याद रखूंगा। यह ऐसा ऐसा नहीं था जो आपको करना चाहिए था। 

ये भी पढ़ें

भाजपा के दिग्गज नेता अमित शाह ने खोल दी सपा-बसपा सरकारों की पोल! दिया ऐसा बड़ा बयान

ट्वीट के बाद टीम इंडिया के पूर्व कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri), हरभजन सिंह और वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) जैसे कई पूर्व खिलाड़ी साहा के समर्थन में आए और उनसे पत्रकार का नाम उजागर करने का आग्रह किया, लेकिन साहा ने मंगलवार शाम को कई ट्वीट करती हुए कहा, मुझे दु:ख पहुंचा। मैंने सोचा कि इस तरह के व्यवहार को बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए और मैं नहीं चाहता कि कोई अन्य इस तरह के वाक्ये से गुजरे। इसलिए मैंने फैसला किया कि इस बातचीत को सार्वजानिक किया जाए लेकिन मैं उस पत्रकार का नाम नहीं बताऊंगा। साहा ने ट्वीट में कहा, मेरा स्वभाव ऐसा है कि मैं किसी का करियर समाप्त करने जैसे नुकसान के बारे में नहीं सोच सकता। उसके परिवार को देखते हुए मानवता आधार पर मैं फिलहाल उसका नाम नहीं बताऊंगा लेकिन यदि ऐसी घटना दुबारा होती है तो मैं चुप नहीं रहूंगा। उन्होंने उन सभी को साथ ही धन्यवाद दिया जो इस मौके पर उनके समर्थन में उठ खड़े हुए।