दुनिया की सबसे बड़ी सीमेंट कंपनी Holcim Group भारत से अपना कारोबार समेटने की तैयारी कर रही है। कंपनी ने कोर मार्केट पर फोकस करने की ग्लोबल स्ट्रेटजी तैयार की है। इंडियन मार्केट निकलना उसकी इसी व्यापक रणनीति का हिस्सा है। खबर है कि Holcim Group ने अपनी दोनों लिस्टेड कंपनियों अंबुजा सीमेंट और एसीसी लिमिटेड को सेल पर डाल दिया है।

यह भी पढ़ें : अगर बीजेपी काफिर है तो कांग्रेस मुनाफीक है: शर्मन अली

यह भी खबर है कि Holcim Group अपना भारतीय कारोबार बेचने के लिए JSW और अडानी समूह समेत अन्य कंपनियों से बातचीत कर रही है। जेएसडब्ल्यू और अडानी समूह दोनों ने हाल ही में सीमेंट सेगमेंट में एंट्री ली है। इन दोनों ही समूह के पास सीमेंट कारोबार को बढ़ाने की आक्रामक योजनाएं हैं। सूत्रों के मुताबिक श्री सीमेंट जैसी स्थानीय कंपनियों से भी संभावित बिक्री को लेकर संपर्क साधा गया है।

भारतीय सीमेंट मार्केट में अभी आदित्य बिड़ला समूह की अल्ट्राटेक सबसे बड़ी कंपनी है। अल्ट्राटेक के पास हर साल 117 मिलियन टन सीमेंट का उत्पादन करने की क्षमता है। Holcim Group की दोनों लिस्टेड कंपनियों अंबुजा सीमेंट और एसीसी लिमिटेड की संयुक्त क्षमता 66 मिलियन टन सालाना है। जो भी समूह इन दोनों सीमेंट कंपनियों को खरीदेगा, वह एक झटकेमें भारत जैसे महत्वपूर्ण बाजार में नंबर दो की हैसियत में आ जाएगा। इस कारण वैसी ग्लोबल सीमेंट कंपनियों से भी संपर्क साधा जा रहा है जो भारतीय सीमेंट बाजार में दिलचस्पी रखती आई हैं।

यह भी पढ़ें : नागालैंड के सबसे पुराने फ़ज़ल अली कॉलेज को NAAC ने A ग्रेड मान्यता दी , जानिए कौन थे फ़ज़ल अली

इंडियन मार्केट में Holcim की फ्लैगशिप कंपनी Ambuja Cement है, जिसमें प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 63.1 फीसदी है। Holcim के पास यह हिस्सेदारी Holderind Investments Limited के जरिए है। भारत के प्रमुख सीमेंट ब्रांड में से एक एसीसी लिमिटेड में Ambuja Cement की 50.05 फीसदी हिस्सेदारी है। एसीसी में Holderind Investment की प्रत्यक्ष तौर पर भी 4.48 फीसदी हिस्सेदारी है। Holcim साल 2018 से दोनों ब्रांडों को मर्ज करने का प्रयास कर रही है, लेकिन यह प्रक्रिया अब तक पूरी नहीं हुई है।