प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व जल दिवस पर 'जल शक्ति अभियान' की शुरुआत की है। जल दिवस पर पीएम मोदी ने ‘केन बेतवा लिंक परियोजना’ के लिए उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश के बीच हस्ताक्षर कर दिया है। मोदी ने जलसंकट से निपटने के उपायों के लिए पंचायतों से चर्चा की है। पीएम ने कहा कि  ‘‘आज भारत में पानी की समस्या के समाधान के लिए  'कैच द रैन' की शुरुआत के साथ ही केन बेतवा लिंक नहर के लिए भी बहुत बड़ा कदम उठाया जिससे अटल जी ने लाखों परिवारों के हित में जो सपना देखा था,    उसे साकार किया जाएगा ''।

बता दें कि ‘केन बेतवा लिंक परियोजना’ के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, MP मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और UP के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ परियोजना के संबंधित दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि ' भूमिगत जल पर देश की निर्भरता कम हो जाएगी। इसलिए 'कैच द रैन' अभियान का सफल होना जरूरी है।


जल जीवन मिशन के बारे बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि '' आजादी के बाद पहली बार पानी की टेस्टिंग को लेकर किसी सरकार द्वारा इतनी गंभीरता से काम किया जा रहा है। और पानी की टेस्टिंग के इस अभियान में गांव में रहने वाली बहनों-बेटियों को जोड़ा जा रहा है ''। 'जल जीवन मिशन' शुरू होने के बाद देश के 4 करोड़ नए परिवारों को नल का कनेक्शन मिल चुका है।'  जानकारी दे दें कि 22 मार्च से 30 नवंबर तक जल शक्ति अभियान चलेगा, जिसमें देश के सभी शहरी व ग्रामीण इलाकों में शुरू होने वाले इस अभियान का थीम 'कैच द रैन' है।