देशभर में सोमवार को स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत राष्ट्रीय स्तर पर जागरुकता अभियान चलाकर विश्व शौचालय दिवस मनाया जाएगा।


केन्द्र सरकार ने कहा कि देश के सभी राज्यों और जिलों में जन जागरुकता और सक्रिय गतिविधियों के आयोजन के साथ ही नागरिकों का ध्यान शौचालयों के उपयोग पर केन्द्रित किया जाएगा।


यह कार्यक्रम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अक्टूबर 2019 तक स्वच्छ भारत के आह्वान से जुड़ा है। इस संबंध में जारी सरकारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस संबंध में मुख्य कार्यक्रम के तहत सभी जिलों में स्वच्छ भारत विश्व शौचालय दिवस प्रतियोगिता 2018 का आयोजन होगा जिसमें जिला, ब्लॉक और पंचायत स्तर की टीमों, स्वच्छताग्राहियों और स्वच्छता चैंपियनों को शामिल करके जमीनी स्तर की गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा।


सरकार ने दावा किया है कि स्वच्छ भारत मिशन की स्थापना के बाद से ही देश की ग्रामीण स्वच्छता कवरेज में महत्वपूर्ण वृद्धि हुई है। यह अक्टूबर 2014 में 39 प्रतिशत थी जो आज बढ़कर 96 प्रतिशत से अधिक हो गई है। ग्रामीण भारत में 8.8 करोड़ से ज्यादा घरेलू शौचालय बनाए गए हैं। इसके परिणामस्वरूप 25 राज्यों तथा केन्द्रशासित प्रदेशों के 530 जिलों और 5.2 लाख से अधिक गांवों ने अपने आपको खुले में शौच से मुक्त घोषित कर दिया है।