आज अगर बेशुमार दौलत वाले अमीरों (worlds richest men) की बात की जाए तो जेफ बेजोस, बिल गेट्स एलन मस्क जैसे लोगों के नाम सामने आते हैं। लेकिन इस दुनिया में एक ऐसा अमीर (Richest Man) भी पैदा हुआ है जिसकी दौलत का अंदाजा आज 900 साल बाद भी कोई भी नहीं लगा पाया। इस अमीर का नाम था मनसा मूसा (mansa musa)। यह इतिहास का सबसे अमीर शख्स था।

मनसा मूसा पश्चिमी अफ्रीका के बादशाह (Africa King) थे और उनके पास इतनी दौलत थी कि आजतक उनकी दौलत का कोई अनुमान नहीं लगा पाया है। मूसा का जन्म 1280 में हुआ था। मूसा के बड़े भाई मनसा अबू बक्र ने 1312 तक देश पर शासन किया। इसके बाद वो एक लंबी यात्रा पर निकल गए, इसके बाद मनसा मूसा ने राज गद्दी संभाली।

मनसा मूसा (mansa musa) टिम्बकटू के राजा थे और उनकी हुकूमत माली पर थी। इस देश में पहले सोने के बहुत बड़े भंडार हुआ करते थे। उस दौर में सोने की मांग बहुत ज्यादा थी और दुनिया का आधा सोना (Gold) मूसा के पास ही था।

इस बादशाह का असली नाम मूसा कीटा प्रथम था। जब उन्हें गद्दी मिली तो उन्हें मनसा यानि बादशाह कहा जाने लगा। इसके बाद उनका नाम मनसा मूसा हो गया। मूसा का साम्राज्य आज के मॉरीटानिया, सेनेगल, गांबिया, गिनिया, बुर्किना फासो, माली, चाड और नाइजीरिया तक फैला था।

मनसा मूसा की दौलत (mansa musa wealth) का एक अनुमान ये लगाया गया है कि उनके पास 4,00,000 मिलियन अमरीकी डॉलर की दौलत थी। भारतीय मुद्रा में ये रकम करीब ढाई लाख करोड़ रुपये होती है। दुनिया के सबसे अमीर शख्स जेफ बेजोस के पास 1,06,000 मिलियन अमरीकी डॉलर की दौलत है।

मूसा जब 1324 में मक्का यात्रा (Makkah Travel) पर गए तो उनके कारवां में 60 हजार लोग शामिल थे। इनमें से 12 हजार तो केवल सुल्तान के निजी अनुचर थे। मूसा जिस घोड़े पर सवार थे, उससे आगे 500 लोगों का दस्ता चला करता था। उनके हाथ में सोने की छड़ी होती थी।

लेकिन मूसा के सोने (mansa musa gold) ने ही पूरे देश को कंगाल कर दिया। उन्होंने इतना सोना दान में दिया कि पूरे देश में सोने के दाम घट गए और अचानक से महंगाई बढ़ गई। इसके बाद देश कंगाली की राह पर चला गया। मूसा ने 57 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया। इसके बाद उनके बेटे ने गद्दी संभाली लेकिन वो इस साम्राज्य को चला नहीं पाया। आगे चलकर मूसा की सल्तनत छोटे-छोटे टुकड़ों में बंट गई।