यदि आप बेरोजगार हैं और आपको काम करना भी नहीं पसंद है, तो लकी हैं। क्योंकि आपके लिए शानदार नौकरी का मौका आया है जिसमें कोई काम नहीं करना होता। इस नौकरी में सैलरी भी काफी अच्छी है। जी हां, जापान के शोजी मोरिमोटो को कुछ भी नहीं करने के लिए उनकी कंपनी काफी मोटा रकम देती है। उनका काम सिर्फ क्लाइंट के साथ समय बिताना है। हर मीटिंग के लिए उन्हें 10,000 येन यानी 71 डॉलर मिलते हैं। 

यह भी पढ़े : 6 नाबालिग छात्राओं का यौन शोषण करने के बाद निजी स्कूल का प्रिंसिपल फरार

टोक्यो के रहने वाले मोरिमोटो ने बताया की मूल रूप से मैं खुद को किराए पर देता हूं। मेरा काम यह है कि मेरे ग्राहक जहां कहते हैं वहां मैं रहता हूं। इस दौरान मुझे कुछ करना नहीं होता है। बीते चार साल में उन्होंने करीब 4,000 सेशन किया है। यानी चार साल में उन्होंने 2.84 लाख अमेरिकी डॉलर की कमाई की है।

मोरिमोटो दिखने में काफी दुबले-पतले हैं। ट्विटर पर उनके करीब 2.5 लाख फॉलोअर्स हैं। अधिकांश क्लाइंट उनसे यहीं संपर्क साधते हैं। कुछ न करने का मतलब यह नहीं है कि मोरिमोटो कुछ भी करेंगे। उन्होंने फ्रिज को शिफ्ट करने और कंबोडिया जाने के प्रस्तावों को ठुकरा दिया था। इसके अलावा शारिरिक संबंध बनाने जैसे अनुरोधों को भी काफी सहजता से ठुकरा देते हैं।

पिछले सप्ताह उन्होंने 27 वर्षीय डेटा विश्लेषक अरुणा चिदा के साथ समय बिताया। इस दौरान दोनों चाय और केक खाए, लेकिन वह बहुत कम ही बातचीत कर रही थी। चिदा भारतीय परिधान को सार्वजनिक रूप से पहनना चाहती थी, लेकिन उसे चिंता थी कि यह उसके दोस्तों को यह पसंद नहीं आएगी। इसलिए उन्होंने मोरिमोटो की मदद ली। 

ये भी पढ़ेंः Asia Cup 2022: युजवेंद्र चहल और ऋषभ पंत का पत्ता कटना तय, दिनेश कार्तिक की हो सकती है वापसी

मोरीमोटो ने इससे पहले एक प्रकाशक के लिए भी काम किया था। इस नौकरी में अक्सर उसे कुछ नहीं करने के लिए डांटा पड़ती थी। अब मोरिमोटो की आय का एकमात्र स्रोत यही है। उनकी पत्नी और बच्चे भी इस काम का समर्थन करते हैं। हालांकि उन्होंने यह बताने से इनकार कर दिया कि वह कितना कमाते हैं। उन्होंने कहा कि वह एक दिन में सिर्फ एक या दो क्लाइंट को ही समय देते हैं। कोरोना महामारी से पहले इसकी संख्या करीब 3-4 थी।