आज साल का पहला सूर्य ग्रहण लगने वाला है। आज का दिन बहुत ही खास है आज के दिन शनि जयंती और वट सावित्री व्रत के साथ सूर्य ग्रहण भी है। सूर्य ग्रहण और शनि जयंती एक दिन होने से इस तिथि का महत्व और अधिक बढ़ गया है क्योंकि यह संयोग 148 वर्ष बाद पड़ रहा है। आज के बाद से पहले 26 मई 1873 को एक ही दिन सूर्य ग्रहण और शनि जयंती थी।


सूर्य ग्रहण से कई राशियों पर बुरा और अच्छा प्रभाव पड़ेगा। ज्योतिष के मुताबिक आज सूर्य वृषभ राशि में लग रहा है। वृष राशि में सूर्य, चंद्र, बुध और राहु होंगे। ग्रहण प्रारम्भ के समय कन्या लगन होगा। सूर्य और चंद्र मृगशिरा नक्षत्र में रहेंगे। खगोलियविदों के मुताबिक आज यह ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा। सूर्य ग्रहण समय दोपहर 1:42 बजे शुरू होगा, ग्रहण का मध्य 3:20 बजे और शाम 6:41 बजे ग्रहण समाप्त होगा।


सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई न देने से सूतक काल भी मान्य नहीं होगा। सूतक काल न होने से इस दौरान सभी शुभ कार्य किए जा सकेंगे, मंदिर के कपाट भी खुले रहेंगे। जिनका सूर्य कमजोर है ग्रहण काल के दौरान भगवान शिव, विष्णु, सूर्य और चंद्र देव के मंत्र का जाप करें। ग्रहण के बाद अनाज, तिल और गुड़ का दान करें।