देश में पहली बार एक अद्भुत संयोग हुआ है। आज ही के दिन वाल्मीकि जयंती और सरदार वल्लभ भाई पटेल जयंती भी है। वाक्मीकि ने रामायाण की कथा लिखी जिससे देश में संस्कृती आई और सरदार वल्लभ भाई ने राजनीति ज्ञान दिया। मतलब कि जीवन भारत की जिस सांस्कृतिक एकता का दर्शन करते हैं, जिस भारत को अनुभव करते हैं, उसे और जीवंत और ऊर्जावान बनाने का काम सदियों पहले आदिकवि महर्षि वाल्मीकि ने ही किया था।


इस अवसर पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरदार सरोवर से साबरमती रिवर फ्रंट तक सी-प्लेन सेवा का भी शुभारंभ किया है। प्रधानमंत्री मोदी के दो दिवसीय गुजरात दौरे पर मोदी ने स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पहुंचकर सरदार वल्लभभाई पटेल को उनकी जयंती पर पुष्पांजलि अर्पित की है और बाद राष्ट्रीय एकता दिवस परेड में हिस्सा लिया। पीएम ने सिविल सर्विसेज प्रोबेशनर्स को संबोधित करते हुए कहा कि देश की विविधता को आज़ाद भारत की शक्ति बनाकर सरदार पटेल ने हिंदुस्तान को वर्तमान स्वरूप दिया है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नर्मदा जिले के केवडिया में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के निकट पर्यटन से जुड़ी कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया। इसी के साथ नर्मदा जिले के केवडिया में जंगल सफारी के नाम से प्रसिद्ध सरदार पटेल प्राणी उद्यान का उद्घाटन भी किया। प्रधानमंत्री न्यूट्री ट्रेन में बैठकर बच्चों के पोषक पार्क का दौरा किया। गुजरात के आरोग्य वन के साथ सरदार पटेल जूलॉजिकल पार्क का उद्घाटन किया। साथ ही जंगल सफारी, एकता मॉल, बच्चों के लिए पोषक पार्क का उद्घाटन किया।