मणिपुर की क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा करने की मांग में यहां धारा 144 का उल्लंघन कर सैकड़ों महिलाओं ने उप-मुख्यमंत्री वाई. जॉयकुमार और दूसरे मंत्रियों के आवास के समक्ष प्रदर्शन किया और नारे लगाए। 

प्रदर्शन में शामिल महिलाओं का कहना था कि राज्य की अखंडता की हर हाल में रक्षा की जानी चाहिए और यहां धारा 371 (ए) लागू करने के किसी भी प्रयास का विरोध किया जाना चाहिए।

महिला नेता आरके रमणी ने पत्रकारों को बताया कि वे उप-मुख्यमंत्री और दूसरे मंत्रियों से यह अपील करने आई हैं कि केंद्र व नगा उग्रवादी संगठन एनएससीएन के बीच हुए शांति समझौते से उपजी स्थिति पर चर्चा के लिए विधानसभा का एक आपातकालीन सत्र बुलाया जाना चाहिए। इसके साथ ही राज्य के सांसदों पर संसद में यह मुद्दा उठाने के लिए दबाव बनाना चाहिए।