ताबूत से जेवरात चोरी का सनसनीखेज मामला सामने आया है। यह मामला फ्रांस का है जहां अंतिम संस्कार गृह से कुछ जेवरात की चोरी के बाद एक महिला को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अज्ञात महिला अंतिम संस्कार गृह में शोक मनाने के लिए आई थी, परिजनों ने जब उसे देखा तो उनको सब कुछ सामान्य लगा।

पूछने पर 60 वर्षीय महिला ने खुद को मरनेवाली महिला की दोस्त बताया, इसलिए परिजनों ने उसको खुले ताबूत में श्रद्धांजलि देने दिया। लेकिन थोड़ी देर बाद वापसी पर उनकी हैरानी का ठिकाना नहीं रहा जब पाया कि मृतक के जेवरात उतार लिए गए हैं। मृतक महिला की नेकलेस, रिंग और कान की बाली सब कुछ गायब थे। परिजनों ने घटना की सूचना पुलिस को फौरन दी। पुलिस ने मामले की जांच कर जल्द ही अंतिम संस्कार गृह के नजदीक रहनेवाली संदिग्ध महिला को पहचान लिया।

उसने महिला को हिरासत में लिया और पाया कि लापता जेवरात उसके कब्जे में हैं. लेकिन इतना ही काफी नहीं था। जांच के दौरान पुलिस अंतिम संस्कार गृह से हुई दूसरी चोरी के माामले को भी संदिग्ध से जोड़ने में सक्षम साबित हुई। पुलिस ने उसी दिन एक व्यक्ति के शरीर से चोरी गए पर्स को बरामद किया। अनुमान लगाया जाता है कि उसने ताबूत की घटना से पहले भी चोरी को अंजाम दिया होगा।
संदिग्ध के घर की तलाशी के दौरान पुलिस ने हालिया डेथ नोट का ढेर भी पाया। डेथ नोट में कमरे में दाखिल होने का पारिवारिक सदस्यों के लिए कोड शामिल था। ताबूत से चोरी के मामले में पुलिस की जांच जारी है और महिला के अगले साल अप्रैल में अदालत में हाजिर होने की उम्मीद है। एपी की रिपोर्ट के मुताबिक, इस महीने की शुरुआत में पश्चिमी फ्रांस के एक छोटे शहर में पादरी की हत्या कर दी गई थी। पूर्व धर्मगुरु ने खुलासा किया कि संदिग्ध एक पुरुष था जो पादरी के घर में महीनों से रह रहा था।