मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले के तिलवारा थाना क्षेत्र के भेड़ाघाट में सेल्फी (Selfie in Bhedaghat) लेने के प्रयास में मुंबई निवासी एक महिला और उसकी होने वाली बहू नर्मदा नदी (Narmada river) में गिर गयी, जिसके बाद महिला का शव कल ही बरामद कर लिया गया था, जबकि आज सुबह युवती का भी शव खोज निकाला गया। 

पुलिस सूत्रों के अनुसार घाट कोपर मुम्बई निवासी अरविंद सोनी (53) अपनी पत्नी हंसा सोनी (50) बेटे राज सोनी और होने वाली बहू रिद्धी पिछडिया (22) के साथ न्यू भेडाघाट घूमने आए थे। जहां कल दोपहर चारो व्यक्ति रोप-वे से न्यू भेडाघाट पहुंचे। इसी दौरान हंसा एवं होने वाली बहू रिद्धि मोबाइल में टाइमिंग सेट कर फोटो खींचने (last selfie) के लिए चट्टानों के ऊपर खडी थी। अनियंत्रित होने के कारण दोनों नर्मदा नदी में गिर गयी और तेज बहाव में बह गयी। स्थानीय तैराकों की मदद से तलाश करवाने में हंसा सोनी का शव मिल गया। जबकि युवती की तलाश की जा रही थी, इसी बीच आज सुबह उसका भी शव नदी से बरामद कर लिया गया।

सास और बहू के नदी में गिरते ही चारों तरफ मदद के लिए चीख पुकार मच गई। सूचना मिलने पर तत्काल बचाव टीम (immediate rescue team) रेस्क्यू में जुट गई। तिलवारा थाने के एसई लेखराम सिंह ने बताया कि गोताखोर और होमगार्ड की मदद से देर रात हंसा सोनी का शव पानी से निकाल लिया गया। बताया जा रहा है कि झरने में गिरने से पहले रिद्धि ने अपने मंगेतर के साथ भी सेल्फी ली थी जो उसकी आखिरी सेल्फी (last selfie) साबित हुई। भेड़ाघाट में ये पहली घटना नहीं है, यहां पर सेल्फी के चक्कर में कई लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी है। लोगों का कहना है कि भेड़ाघाट के धुआंधार जलप्रपात क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था नदारद नजर आती है। न तो पर्यटकों को रोकने टोकने के लिए सुरक्षाकर्मी मौजूद होते हैं और न ही खतरनाक जगह पर सांकेतिक बोर्ड लगाए जाते हैं और यही नासमझी कई बार लोगों की जान का कारण बन जाती है।